जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट से लंदन के लिए जल्द सीधी फ्लाइट शुरू होगी। यह फ्लाइट इसी साल शुरू हो जाएगी। इसी बाबत मंगलवार को ब्रिटिश डिप्टी हाई कमिश्नर कैरोलिन रोवेट ने चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के चीफ एग्जीक्यूटिव आफिसर राकेश रंजन से मुलाकात की।

राकेश रंजन ने बताया कि यह औपचारिक मुलाकात थी। ब्रिटिश डिप्टी हाई कमिश्नर ने उनसे लंदन के लिए शुरू होने वाली फ्लाइट्स का बारे में बातचीत की और इसे जल्द शुरू करने को लेकर गंभीरता दिखाई। बता दें लंदन के लिए सीधी फ्लाइट शुरू करने का प्रोपोजल भी भेजा जा चुका है और उम्मीद है कि यह फ्लाइट इसी साल शुरू हो जाएगी।

एयरपोर्ट अधिकारियों की माने तो फ्लाइट को शुरू करने से जुड़ी तमाम तरह की औपचारिकताएं को लगभग पूरी हो चुकी हैं। चंडीगढ़ एयरपोर्ट से यह सीधी फ्लाइट हीथ्रो एयरपोर्ट के लिए शुरू होगी। इसी सिलसिले में भारत में ब्रिटिश हाई कमिश्नर एलेक्स इल्लीस ने मई में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान से मुलाकात की थी।

अभी भी सिर्फ शारजाह और दुबई के लिए है सीधी फ्लाइट

चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन छह साल पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 11 सितंबर, 2015 को किया था। वर्ष  2019 में इसके रनवे का विस्तार किया गया बावजूद इसके चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट से अभी तक सिर्फ शारजाह और दुबई के लिए सीधी फ्लाइट है। इसके अलावा चंडीगढ़ इंटनेशनल एयरपोर्ट से 20 अन्य शहरों के लिए सीधी फ्लाइट है। इनमें अहमदाबाद, दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, लखनऊ, पटना, श्रीनगर, अहमदाबाद, गोवा, बेंगलुरु, हैदराबाद, कुल्लू, पुणे, चेन्नई, धर्मशाला, लेह, लखनऊ, कोलकाता, हिसार, देहरादून, धर्मशाला और शिमला जैसे शहरों के लिए एयरपोर्ट से सीधी फ्लाइट है। खास बात यह है कि इसमें 24 से ज्यादा फ्लाइट्स अकेले दिल्ली के लिए हैं, क्योंकि दिल्ली एयरपोर्ट से रीजन के लोग अन्य देशों के लिए इंटरनेशनल फ्लाइट्स पकड़ते हैं। 

अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स बढ़ाने की मांग

चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट से इंटरनेशनल कनेक्टिविटी बढ़े इसके लिए पंजाब -हरियाणा हाई कोर्ट में भी मामला चल रहा है। इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू होने से कनेक्टिविटी बढ़ेगी जिससे इस क्षेत्र के उद्योग तरक्की करेंगे। गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव व पंजाब विधानसभा चुनाव में भी चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट से यूरोप, अमेरिका व आस्ट्रेलिया के लिए सीधी फ्लाइट शुरू करने का मुद्दा कई राजनीतिक मंचों पर उठा था। बावजूद इसके कोई अतिरिक्त इंटरनेशनल फ्लाइट अभी शुरू नहीं हुई।

Edited By: Ankesh Thakur