जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। कोरोना संक्रमण का प्रभाव शहर में अब काफी कम हो गया है। प्रशासन छूट का दायरा लगातार बढ़ा रहा है। अब तो इतनी छूट हो गई है जैसे शहर में सब कुछ ही खुल गया है। हालात कोरोना से पहले जैसे हो गए हैं। लोगों का व्यवहार ऐसा ही बयां कर रहा है। लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि मार्च में दूसरी लहर ने भी इसी छूट का फायदा सबसे पहले उठाते हुए रफ्तार पकड़ी थी। यह छूट तीसरी लहर का कारण भी बन सकती है। इसलिए लोगों को चाहिए कि वह छूट का आनंद लें लेकिन तीसरी लहर को रोकने की जिम्मेदारी भी कहीं न कहीं उनकी ही है।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए सार्वजनिक स्थलों पर कायदे और नियमों का पालन करें। मास्क इस संक्रमण से लड़ने का सबसे बड़ा हथियार रहा है। दूसरी कोरोना की वैक्सीनेशन। जो भी योग्य हैं उन्हें तुरंत इसे लगवाना चाहिए। खुद को जिम्मेदार नहीं बनाया तो दूसरों के लिए भी मुश्किल बढ़ जाएगी।

प्रशासन ने शिक्षण संस्थानों को खोला

स्कूल खोलने की अनुमति के बाद अब हायर एजुकेशन से जुड़े सभी संस्थान खोलने की मंजूरी यूटी प्रशासन ने दे दी है। चंडीगढ़ स्थित सभी यूनिवर्सिटी, कॉलेज और हायर एजुकेशन से जुड़े इंस्टीट्यूट अगस्त 2021 से शुरू हो रहे नए एकेडमिक सेशन से खुल जाएंगे। इसमें शर्त यह रहेगी कि सभी टीचिंग, नॉन टीचिंग स्टाफ और स्टूडेंट्स को कम से कम दो सप्ताह पहले वैक्सीन की एक डोज लगी होनी चाहिए। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने मंगलवार को कोविड वॉर रूम मीटिंग में यह राहत का निर्णय लिया था।

वीकेंड पर न बनें सुखना भीड़ का हिस्सा

सुखना लेक और पब्लिक प्लेस पर बढ़ रही भीड़ चिंता का सबसे बड़ा कारण है। संक्रमण से बचना है तो सुखना की भीड़ का हिस्सा न बनें। खासकर वीकेंड पर जाने से बचें। प्रशासक बदनौर ने पुलिस को सख्ती बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। ऐसे स्थानों पर मास्क नहीं पहनने और कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों से पुलिस सख्ती से निपटे। सख्त से सख्त कार्रवाई ऐसे लोगों पर की जाए।

एग्जीबिशन और शो भी होंगे शुरू

प्रशासन ने अब कुछ और राहत देते हुए एग्जीबिशन और शो जैसे कॉमर्शियल इवेंट की मंजूरी भी दे दी है। यह सभी एसडीएम की पहले से मंजूरी के बाद ही किए जा सकेंगे। उपलब्ध स्पेस की क्षमता के 50 फीसद या 200 लोगों को इनमें शामिल होने की छूट रहेगी। कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करना अनिवार्य है। सिनेमा, मल्टीप्लेक्स, बार, डिस्क, क्लब, जिम और स्पा को पहले ही खोला जा चुका है।

Edited By: Ankesh Thakur