जागरण संवाददता, चंडीगढ़। भाई की मौत का बदला लेने के लिए व्यक्ति ने ऐसा रास्ता चुना कि अब वह सलाखों के पीछे पहुंच गया है। पुलिस ने आरोपित को पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान धनास के रहने वाले 32 वर्षीय अमरजीत सिंह उर्फ तोता के तौर पर हुई है। 

चंडीगढ़ पुलिस के लिए अमरजीत पहले से ही वांटेड था और उसकी पुलिस को तलाश थी। वांटेड अमरजीत ने अपने भाई की हत्या के बाद हत्यारों से बदला लेने के लिए अपना एक गैंग बना लिया था। चंडीगढ़ में उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं में कई केस दर्ज हैं। अब वह वांटेड पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। दरअसल 15 अगस्त को लेकर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर शहर की सभी थाना पुलिस, ऑपरेशन सेल और क्राइम ब्रांच ने एरिया में चेकिंग बढ़ा दी है। इसी के तहत सारंगपुर थाना पुलिस की ऑपरेशन सेल टीम एरिया में शुक्रवार देर रात बोटेनिकल गार्डन के पास चेकिंग कर रही थी इस दौरान पुलिस ने अमरजीत को मौके से गिरफ्तार किया। अमरजीत सिंह उर्फ तोता के पास एक देसी पिस्टल और चार कारतूस बरामद हुए हैं। आरोपित धनास की ईडब्ल्यूएस कॉलोनी में रहता है। पुलिस ने आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है।

पुलिस को मिली थी गुप्त सूचना

ऑपरेशन सेल इंचार्ज इंस्पेक्टर अमनजोत सिंह के सुपरविजन में पुलिस टीम अलग-अलग एरिया में रात के समय पेट्रोलिंग कर रही थी। इसी दौरान मिली गुप्त सूचना के आधार पर पुलिसकर्मियों ने बोटेनिकल गार्डन के समीप नाकाबंदी कर चेकिंग शुरू कर दी। धनास कालोनी की तरफ से पैदल आ रहे व्यक्ति की संदिग्ध हरकत देख पुलिसकर्मियों ने उसे दबोच लिया। आरोपित से पास पिस्टल और कारतूस बरामद होने के बाद गिरफ्तार कर पुलिस थाने में लेकर गई।

भाई के हत्यारों से बदला लेने को बनाया था गैंग, 10 केस दर्ज

साल 2018 में धनास में कुछ लोगों ने आरोपित तोता के भाई लवकुश की हत्या कर दी थी। पुलिस ने मामले में आरोपितों को गिरफ्तार भी किया था। बावजूद बावजूद तोता ने भाई के हत्यारों से बदला लेने के लिए अपना गैंग बना लिया था। आरोपित के खिलाफ हत्या की कोशिश, चोरी, रंगदारी सहित विभिन्न धाराओं के तहत 10 केस दर्ज है।

Edited By: Ankesh Thakur