राजेश ढल्ल, चंडीगढ़। Chandigarh nagar nigam chunav: कांग्रेस छोड़कर आम आदमी पार्टी में शामिल हुए प्रदीप छाबड़ा इन दिनों राजनीति में काफी चर्चित हैं। वह हर पल कांग्रेस को कमजोर करने और आप को मजबूत करने में लगे हुए हैं। ऐसे में छाबड़ा का पार्टी और शहर की राजनीति में भी कद बढ़ता जा रहा है। यह कहना भी गलत नहीं होगा कि छाबड़ा के प्रयास से ही आम आदमी पार्टी पहली बार नगर निगम चुनाव लड़ने की हिम्मत जुटा पाई है। ऐसे में पार्टी को जीत दिलाने की पूरी जिम्मेदारी प्रदीप छाबड़ा के कंधों पर आ गई है। इस चुनाव को लेकर छाबड़ा की प्रतिष्ठा भी दांव पर लग गई है। छाबड़ा के लिए सबसे बड़ी चुनौती पार्टी के उम्मीदवारों को जीताने के साथ साथ कांग्रेस और भाजपा को हराना है। इस समय छाबड़ा भाजपा से ज्यादा कांग्रेस को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की राजनीति पर भाजपा ने पूरी तरह से चुप्पी साधी हुई है। भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद सहित उनके नेता इस समय अपने संगठन को मजबूत करने के साथ साथ राजनीतिक कार्यक्रम में लगे हुए हैं हालांकि इस समय किसान आंदोलन के समर्थन में भाजपा नेताओं को विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है, लेकिन कांग्रेस और आप में होने वाली उथल पुथल में भाजपा नेताओं का विरोध दब सा गया है। भाजपा नेताओं का मानना है कि आप जितनी मजबूत होगी कांग्रेस उतनी कमजोर होगी इसका सीधा सीधा फायदा उनको (भाजपा)  है। इसलिए वह आप और कांग्रेस में मचे बवाल में कूदने के लिए तैयार नहीं है।

छाबड़ा इस समय सीधा कांग्रेस को नुकसान पहुंचा कर पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल को जवाब देना चाहते हैं। क्योंकि वह बंसल के कारण ही कांग्रेस छोड़कर आम आदमी पार्टी में शामिल हुए हैं। दिसंबर में होने वाले नगर निगम चुनाव में छाबड़ा के निशाने पर कांग्रेस नेता ही होंगे। छाबड़ा इस समय कांग्रेस के अन्य नेताओं के भी संपर्क में हैं। जिन्हें वह अगले दिनों आप में शामिल करवाएंगे। ऐसे में अगर निगम चुनाव में आप को जीत मिली तो छाबड़ा का कद काफी बढ़ जाएगा। ऐसा भी हो सकता है कि उन्हें पंजाब विधानसभा चुनाव में टिकट दे दी जाए। हालांकि छाबड़ा मूल रूप से पंजाब के अबोहर के मूल निवासी हैं। उनके समर्थकों उनके लिए अबोहर से टिकट की मांग कर रहे हैं। पूर्व मेयर प्रदीप छाबड़ा पहले ही चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव लड़ने से इन्कार कर चुके हैं। चंडीगढ़ आप के सह प्रभारी ही पूर्व केंद्रीय मंत्री हरमोहन धवन को मनाने में कामयाब हुए हैं। अब धवन निगम चुनाव में आप उम्मीदवारों के लिए प्रचार करेंगे। धवन का कॉलोनी और गांव में अच्छा जनाधार है। इससे आम आदमी पार्टी को अच्छा खासा फायदा मिलेगा।

Edited By: Ankesh Thakur