कुलदीप शुक्ला, चंडीगढ़। चंडीगढ़ की माडल बुड़ैल जेल में कैद बंदियों के हुनर का कोई जवाब नहीं है। जेल में बंद कैदियों में कोई पेंटिंग, कोई मिठाई बनाने में माहिर तो कई अपनी कारिगरी से डंका बजा रहे हैं। पहली बार जेल के कैदियों ने खास सुगंधित मोमबत्तियां तैयार की हैं, जो इस दीपावली और अन्य त्योहार के मौकों पर 12 तरह की अलग-अलग खुशबू वाली ये मोमबत्तियां लोगों के घर को रोशन करने के साथ महकाएगी भी। ये सिर्फ मामूली मोमबत्तियां नहीं बल्कि चार दीवारी में कैद कैदियों का हुनर है, जो अब देश भर के बाजारों में बिकेगा। कैदियों को आत्मनिर्भर बनाने में जेल प्रशासन की तरफ से यह प्रयास किया गया है। यह आकर्षक और डिजाइनर मोमबत्तियां सेक्टर-22 स्थित सृजन शाप पर बाजार से कम दाम में उपलब्ध हैं।

कैदियों द्वारा सुगंधित मोमबत्तियां जैसे गुलाब, लैवेंडर, चमेली, वेनिला, लेमनग्रास, संतरा, स्ट्रॉबेरी, हरा सेब, कस्तूरी, हैंड पॉड, सौंदर्य और अन्य डिजाइनर मोमबत्तियां बनाई जा रही हैं।

रोजाना बन रही 1500 मोमबत्तियां

जेल में साधारण और खुशबू वाली डिजाइनर मोमबत्तियां बनाने के लिए दो टीम हैं। दोनों टीमों में 20-20 कैदी हैं। साधारण मोमबत्तियां पूरी तरह से मशीन में बनाई जाती है। जबकि कांच के ग्लास में खुशबूदार मोमबत्तियों को कैदी सांचे की मदद से हाथ से तैयार कर रहे हैं। रोजाना 1300 से 1500 मोमबत्तियां तैयार की जा रही हैं।  

सरकारी विभाग व दूसरे जेलों में बिकेगी होगी

इन मोमबत्तियों का खरीदने का कोटेशन ट्राईसिटी के सरकारी विभाग जैसे नगर निगम, पुलिस विभाग, प्रशासनिक समेत अन्य विभाग मांग चुके हैं। इसके अलावा हरियाणा, पंजाब, हिमाचल, उत्तर प्रदेश और राजस्थान की जेल प्रशासन की ओर से भी खरीदारी की पहल की जा रही है। इससे पहले दिल्ली के जेल में कैदियों ने इस तरह की मोमबत्तियां तैयार की हैं। अभी हिमाचल प्रदेश के नाहन जेल के कैदियों द्वारा तैयार लकड़ी के आकर्षक लैंप, मंदिर, दीपक, वूलन कपड़े सृज शाप पर उपलब्ध कराए जा रहे हैं, जो लोगों को खूब भा रहे हैं। इसके अलावा लकड़ी की कुर्सियां, डिजाइनर मोमबत्तियां, सजावट के सामान, हर्बल कलर, बेकिंग फूड, खान-पान के सामान सहित स्पेशल बेसन की बर्फी के साथ कैदियों द्वारा सिले कपड़े भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

----

माडल जेल के कैदियों ने खास तरह की सुगंधित आकर्षक मोमबत्तियां तैयार की है। इसकी गुणवत्ता की दोहरी जांच के बाद मार्केट में बेचा जा रहा है। इसी तरह कैदियों की बनाई मिठाइयों में बेसन की स्पेशल बर्फी, गुलकंद और गुलाब जामुन की डिमांड भी काफी ज्यादा।

                                                                                         -पालिका अरोड़ा, सुपरिंटेंडेंट, बुड़ैल जेल।

Edited By: Ankesh Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट