चंडीगढ़, जेएनएन। चंडीगढ़ के सेक्टर-37ए स्थित विवादित कोठी कब्जाने, बेचने और मालिक को नशा देकर मारपीट करने के मामले में आरोपित शराब कारोबारी अरविंद सिंह ने शुक्रवार को जिला अदालत में आत्म समर्पण कर दिया है। मामले में चंडीगढ़ पुलिस की तरफ से अरविंद सिंगला पर ₹50000 का इनाम घोषित किया गया था। वहीं, सिंगला के कोर्ट में सरेंडर के बाद चंडीगढ़ पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम के सदस्य इंस्पेक्टर नरेंद्र पटियाल सहित पुलिस टीम को कोर्ट में बुलाया गया। एसआइटी की दलील के आधार पर कोर्ट ने अरविंद सिंगला को 4 दिन के पुलिस रिमांड में भेज दिया है। एसआइटी ने सिंगला पर गंभीर आरोप और मामले में सुबूत होने का हवाला देकर सात दिन का रिमांड मांगा था।

जानकारी के अनुसार अरविंद सिंगला अपने वकील के साथ दोपहर करीब 1:00 बजे के बाद चंडीगढ़ जिला अदालत में पेश हुआ था। कानूनी कार्रवाई और दस्तावेजों को पूरा करने के बाद पुलिस को सूचना दी गई थी। बता दें कि इस मामले में बीते वीरवार को नकली राहुल मेहता यानी कोठी मालिक बनकर रजिस्ट्री करवाने वाले आरोपित गुरप्रीत सिंह ने भी जिला अदालत में सरेंडर किया था। कोर्ट ने गुरप्रीत सिंह को भी 3 दिन के पुलिस रिमांड में भेजा हुआ है।

सिंगला पर फर्जी तरीके से कोठी का जीपीए कराने का आरोप

पुलिस एफआइआर के अनुसार अरविंद सिंगला पर विवादित कोठी नंबर 340 का फर्जी ढंग से अपने नाम जीपीए करवाने का आरोप है। इस मामले में यह भी आरोप है कि सिंगला आरोपित संजीव महाजन और बाउंसर सुरजीत के माध्यम से कोठी प्रकरण में एंट्री किया था। इसके बाद कोठी की पहली जीपीए कराने के साथ 2019 में कोठी की रजिस्ट्रेशन के समय तक सिंगला सभी तरह की डील और रजिस्ट्री में शामिल भी रह चुका है। रिमांड के दौरान पुलिस इन्हीं सवालों का सिंगला से जवाब उगलवाने की कोशिश करेगी।

नॉर्थ इंडिया का बड़ा शराब कारोबारी अरविंद सिंगला

चंडीगढ़ के सेक्टर-33 स्थित निजी कोठी में रहने वाले अरविंद सिंगला शहर के नामी कारोबारी है। अरविंद सिंगला नॉर्थ इंडिया के बड़े शराब कारोबारियों में एक है। पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में सिंगला के 100 से ज्यादा शराब ठेके चल रहे हैं। मामले के बाद सिंगला की गिरफ्तारी न होने से चंडीगढ़ पुलिस विभाग पर सवालिया निशान लग गया था।

Edited By: Ankesh Thakur