जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। Chandigarh Dussehra Celebration: श्री सनातन धर्म दशहरा कमेटी सेक्टर 46 इस बार बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक दशहरा पर्व सांकेतिक तौर पर मनाएगी। शुक्रवार को दशहरा पर सेक्टर-46 स्थित सब्जी मंडी में शाम पांच बजे रावण दहन किया जाएगा। कमेटी के चीफ पैटर्न जतिंदर भाटिया ने कहा कि इस बार शहर में पटाखों पर पाबंदी लगा दी गई है। ऐसे में सांकेतिक तौर पर 25 फीट ऊंचे रावण का पुतला तैयार किया गया है। पुतले में पटाखे नहीं लगाए गए हैं।

जतिंदर भाटिया ने कहा कि हर बार सेक्टर-46 का दशहरा ट्राईसिटी में आकर्षण का केंद्र रहता था, लेकिन इस बार ऐसा ज्यादा बड़े पुतलों का निर्माण नहीं किया गया है। इस बार प्रशासन ने रावण दहन की अनुमति 12 अक्टूबर को दी थी, जिस कारण सिर्फ रावण और कुंभकर्ण का पुतला ही बनाया जा रहा है और उनका ही दहन होगा। मेघनाद को कागज पर बनाकर आग लगाई जाएगी।

दहन से पहले निकाली जाएगी शोभायात्रा

सेक्टर-46 में होने वाले रावण दहन से पहले शोभायात्रा का आयोजन किया जाएगा। इसमें भगवान श्रीराम से जुड़ी झांकियों को दिखाया जाएगा। झांकियों में भगवान श्रीराम के राजतिलक की घोषणा से लेकर वनवास गमन, रावण- जटाऊ संवाद, परशुराम- लक्ष्मण संवाद, अंगद-मेघनाद संवाद सहित रावण और शनि की झांकियां भी दिखाई जाएगी। झांकियों के दौरान महिला संकीर्तन मंडली भी मौजूद रहेगी जो कि भगवान श्रीराम का भजनों से गुणगान करेगी। कार्यक्रम का आरंभ शाम चार बजे हो जाएगा जो कि शाम छह बजे तक खत्म कर दिया जाएगा।

कमेटी के जरनल सेक्रेटरी सुशील कुमार ने कहा कि दशहरा आयोजन स्थल पर श्रद्धालु दर्शकों की भीड़ को कम करने के लिए दशहरा कार्यक्रम को आनलाइन प्रसारित करने के लिए निर्णय लिया गया है ताकि लोग घर बैठे ही रावण का दहन देख सके। वहीं दहन के लिए ग्राउंड में आने वाले सभी श्रद्धालुओं से भी अपील है कि वह मास्क पहनकर आएं और ग्राउंड में आने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें ताकि संक्रमण को कोई बढ़ावा न मिले।

Edited By: Ankesh Thakur