जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। एक भाई ने बहनों को ससुराल में जाकर रहने के लिए कहा तो उन्होंने चार लोगों को बुला लिया। जिन्होंने आते ही पहले उनके भाई बुरी तरह पीटा फिर उसपर गोली चला दी। गनीमत रही की गोली पैर पर लगी। गोली पैर के आरपार हो गई। घायल की पहचान 29 वर्षीय गुरसेवक के तौर पर हुई है। उसे सेक्टर-16 अस्पताल में भर्ती किया गया है। 

डड्डूमाजरा कालोनी में वीरवार देर रात भाई के साथ बहनों की जमकर बहसबाजी हुई। इसके उन्होंने चार लोगों को फोन कर मौके पर बुला लिया। जिन्होंने गुरसेवक पर गोली चला दी और मौके से फरार हो गए। सूचना पाकर मलोया थाना प्रभारी जसपाल भुल्लर सहित पुलिस टीम मौके पर पहुंची। घायल को जीएमएसएच-16 में भर्ती करवाने के बाद बयान को आधार बनाकर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ आर्म्स एक्ट और हत्या कोशिश की धारा के तहत केस दर्ज कर तलाश शुरू कर दी।

गुरसेवक सेक्टर-8 में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है। शिकायतकर्ता ने बताया कि उसकी दोनों बहनें शादीशुदा हैं और ससुराल में रहने के बजाय मायके में ही रहती हैं। इस पर उसने उन्हें ससुराल जाकर रहने की बात कही जिस पर बहनों ने उसके साथ लड़ाई शुरू कर दी। उसकी एक बहन ने फोन करके कुछ लोगों को घर बुला लिया। इसके बाद चार लोग उसके घर पहुंच गए और उन्होंने उसके साथ मारपीट की। विरोध करने पर एक युवक ने जेब से बंदूक निकाल उसपर गोली चला दी, जो पैर पर लगी। हालांकि, आरोपितों के चेहरे ढके होने से पहचान नहीं पाया है। पुलिस मामले में उसकी बहनों से पूछताछ करने में लगी है।

तीन दिन में दूसरी वारदात

मलोया थाना एरिया में तीन दिन के अंदर दूसरी वारदात हो गई। इससे तीन दिन पहले जंगल एरिया में एक महिला की हत्या की गई थी। आरोपित ने महिला के मूंह में मोजे ढूंसकर हत्या कर दी। हत्या से पहले महिला के साथ दुष्कर्म की भी आशंका जताई जा रही है। हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई। थाना पुलिस हत्याकांड के आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

Edited By: Ankesh Thakur