जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। सेक्टर-27 स्थित मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल के बाहर परीक्षा के बाद दो छात्र गुटों के बीच हुई मारपीट में 10वीं के छात्र सहित दो अन्य लोग घायल हो गए थे। घर वालों ने घायल छात्र वाहिद व उसके पड़ोसी विशाल और मुबसिर को जीएमएसएच-16 में भर्ती कराया था। मुबसिर के सिर पर गंभीर चोट लगने की वजह से उसे पीजीआइ रेफर कर दिया गया था। मुबसिर 10 दिन से पीजीआइ में भर्ती है। वहीं, घटना की सूचना के बाद पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ अभी तक केस दर्ज नहीं किया है। पीड़ित पक्ष ने चंडीगढ़ पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं।

घायल छात्र वाहिद के भाई शाहिद ने पुलिस को शिकायत दी थी कि उसके भाई समेत पड़ोसी युवकों पर आरोपितों ने चाकू से हमला किया था। चाकू से हमले की वजह से मुबसिर के सिर पर गहरी चोट आई है, जिस वजह से वह 10 दिन से पीजीआइ में भर्ती है, लेकिन पुलिस ने 10 दिन बीत जाने के बाद भी आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज नहीं किया है। जबकि सेक्टर-26 थाना पुलिस का कहना है कि दोनों पक्षों में स्कूल के बाहर मारपीट में पत्थर लगने से दो लोग घायल हो गए थे। एक आरोपित के खिलाफ प्रिवेंटिव एक्शन में कार्रवाई भी की गई। पीजीआइ से रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

शाहिद ने बताया कि उसका छोटा भाई वाहिद मनीमाजरा मार्डन कांप्लेक्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 10वीं का छात्र है। 10 मई को वह बोर्ड परीक्षा देने के लिए सेक्टर-27 स्थित सरकारी स्कूल में बने परीक्षा केंद्र गया था। परीक्षा के बाद उसके चाचा के लड़के ने उसे कॉल कर बताया कि इंदिरा कालोनी और मौली जागरां के कुछ लड़के वाहिद को मारने आए हुए हैं। इस पर उसने पड़ोसी युवक विशाल और मुबसिर को स्कूल जाकर मामला शांत करवाने के लिए भेजा था। आरोप है कि वहां पर कुछ लोगों ने उसके भाई वाहिद और पड़ोसी युवक विशाल और मुबसिर पर चाकू से हमला कर दिया। शाहिद का आरोप है कि पुलिस ने एक आरोपित को दो दिन बाद स्कूल के बाहर चाकू सहित पकड़ा था, लेकिन अभी तक मामले में आरोपित के खिलाफ केस दर्ज नहीं किया गया है।

Edited By: Ankesh Thakur