चंडीगढ़, जेएनएन। कांग्रेस ने एक बार फिर से मेयर राजबाला मलिक को पत्र लिखकर नगर निगम की आपातकालीन बैठक बुलाने की मांग की है। कांग्रेस पार्षद सतीश कैंथ ने मेयर को लिखे पत्र में सफाई कर्मचारियों की हुई हड़ताल का भी जिक्र किया है। कैंथ ने कहा है कि इस समय सफाई कर्मचारियों की हड़ताल और डोर टू डोर गार्बेज कलेक्टर द्वारा काम छोड़ो हड़ताल के कारण शहर की स्थिति खराब है। सफाई कर्मचारियों की मांग काफी लंबे समय से पेंडिंग है। ऐसे में उनकी मांग पूरी होनी चाहिए।

पत्र में  कहा है कि कोरोना काल में सफाई कर्मचारियों ने सड़कों, मार्केट, गलियों, सफाई केंद्रों, पार्कों और ग्रीन बेल्ट के अंदर पूरी मेहनत के साथ काम किया। इसके बावजूद कोई उनकी समस्याओं पर गौर नहीं कर रहा है। सतीश कैंथ ने कहा है कि पिछले 3 दिन से लोगों के घरों से भी कलेक्टर कजरा नहीं उठा रहे जिस कारण लोगों की परेशानी भी बढ़ गई है। इसका असर शहर की स्वच्छता सर्वेक्षण पर भी पड़ेगा। कैंथ ने कहा है कि गार्बेज कलेक्टर के साथ अभी तक नगर निगम ने एमओयू साइन नहीं किया है।

नगर निगम चुनाव जीतते ही कांग्रेस वेंडर्स के नए लाइसेंस करेगी जारी 

कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा व कांग्रेस नेताओं विजय राणा, विक्रम चोपड़ा, अश्वनी कौशल, ओम प्रकाश सैनी, मोहन राणा, प्रेमपाल चौहान, राणा करनवीर, जसबीर बंटी, लव कुमार, हरीश छाबड़ा, सरोज शर्मा, राकेश बरोटिया, बरिंदर रावत, जतिंदर यादव, दिलावर सिंह, कुलदीप टीटा, रजनी तलवार, राम मिलान गौड़, प्रिंस, ऊषा राणा, बबिता, किरण, मोना,ओम लता, चंचल, प्रिंस,सुभाष गहलोत द्वारा जारी एक सयुंक्त बयान में कहा है आने वाले नगर निगम चुनाव को जीतते ही कांग्रेस वेंडर्स के लाइसेंस जारी करेगी।

हजारों की संख्या में वेंडर्स लाइसेंस के लिए दर बदर भटक रहे है बीजेपी शासित नगर निगम ने लाइसेंस देने बंद कर रखे है एक तरफ कोरोणा काल के कारण काम धंधा चौपट हो रखा है, बहुत अधिक फीस वसूली जा रही है। नगर निगम चुनाव जीतते ही कांग्रेस वेंडर्स के नए लाइसेंस हो, वेंडर्स से बहुत कम फीस व उन्हें उसी सेक्टर में बैठाना प्राथमिकता होगी। कांग्रेस विकलांग व विधवा वेंडर्स की पूरी फीस माफ व 60 साल से ऊपर के वेंडर्स की आधी फीस लाएगी। स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट कांग्रेस द्वारा लाया क़ानून है जिसे बिना डर काम करने का अधिकार मिलता है वेंडर्स को मिला ये अधिकार कोई नही छीन सकता है उनके अधिकारों के लिए कांग्रेस डट कर उनके साथ खड़ी है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!