मोहाली, जेएनएन। मोहाली नगर निगम की नई वार्डबंदी से शिरोमणि अकाली दल(शिअद) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के  पूर्व पार्षदों बड़ा झटका लगा है। ध्यान रहे कि अकाली व भाजपा के रास्ते इस बार अलग अलग है। क्योंकि केंद्र में कृषि बिलों को लेकर दोनों पार्टियों की राहें अलग अलग हो गई है। वहीं कांग्रेस की ओर से पहले ही कह दिया गया है कि उनके जिन पूर्व पार्षदों के वार्ड नई वार्डबंदी में मर्ज हो गए हैं उन्हें एजस्ट किया जाएगा।

मोहाली नगर निगम के पिछले सदन में शिअद-भाजपा की 70 फीसदी सीटें नई वार्डबंदी में खत्म हो गई है। कुछ सीटें महिलाओं के लिए रिजर्व भी हुई है। ध्यान रहे कि मोहाली नगर निगम के सदन का पांच वर्ष का कार्यकाल इस वर्ष बीती 26 अप्रैल को समाप्त हुआ था।

स्थानीय निकाय विभाग द्वारा हाल की जनगणना के आधार पर नई वार्डबंदी करने के लिए गठित कमेटी गठित की है। जिसके बाद निगम की ओर से एक सर्वे करवया गया। सर्वे का काम पूरा हो चुका है। 50 वार्डों में से 25 अनुसूचित जातियों के लिए महिलाओं के अलावा पांच (महिलाओं के लिए दो सहित) और दो पिछड़े वर्गों (पुरुषों) के लिए आरक्षित किए गए हैं। जबकि पूर्व अकाली मेयर कुलवंत सिंह के वार्ड नंबर 49 को आरक्षित (एससी) से सामान्य में बदल दिया गया है।मेयर के बेटे सरबजीत सिंह समाना के वार्ड नंबर 25 को महिलाओं के लिए आरक्षित किया गया है। वहीं 33 में से 23 वार्ड प्रभावित हुए हैं। केवल दो पूर्व कांग्रेस पार्षदों के वार्डों को सामान्य श्रेणी में परिवर्तित किया गया है और शेष 13 को अछूता छोड़ दिया गया है।

मोहाली को 1984 में एक नगरपालिका परिषद मिली, जिसे जनवरी 2011 में एक अधिसूचना के माध्यम से निगम में अपग्रेड किया गया था। हालांकि, चुनाव 2015 में चार साल बाद आयोजित किए गए थे। जबकि कांग्रेस 15 वार्डों से जीती थी, एसएडी-भाजपा गठबंधन को 23 सीटें मिली थीं। कुलवंत सिंह के नेतृत्व वाले आजाद गुट ने 10 से जीत हासिल की, जबकि दो सीटें निर्दलीयों के खाते में गईं।

14 कांग्रेस पार्षदों और दो निर्दलीयों के अलावा उनके समूह के समर्थन से, कुलवंत को अगस्त 2015 में मोहाली का पहला मेयर चुना गया था। दो साल बाद, आजाद समूह का अकाली दल में विलय हो गया। आगामी चुनावों में, एसएडी और बीजेपी अलग-अलग चुनाव लड़ेंगे, क्योंकि केंद्र में उनका गठबंधन खेत के बिलों पर टूट गया था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!