जेएनएन, चंडीगढ़ : यूटी एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट ने 70 करोड़ रुपये के टैक्स घोटाले के मामले में 300 से अधिक कंपनियों को नोटिस भेजने की तैयारी कर ली है। विभाग के उच्चाधिकारी की मानें तो घोटाले की जांच अभी जारी है। ऐसे में इन कंपनियों को नोटिस भेजकर उनसे जवाब तलब किया जाएगा। डिपार्टमेंट के अधिकारियों की मानें तो इनमें कई ऐसी कंपनियां शामिल हैं, जो कि पंजाब, हरियाणा व अन्य राज्यों में कारोबार करती हैं। इन कंपनियों के पास चंडीगढ़ का जीएसटी नंबर भी है, लेकिन यह कंपनियां चंडीगढ़ में किसी भी प्रकार से सेल व परचेज नहीं कर रही हैं। बल्कि टैक्स में रिबेट व अन्य फायदे लेने के लिए गलत कागजात पेश कर सेल व परचेज दिखाकर करोड़ों रुपये के टैक्स की चोरी कर रही थीं।

15 और बोगस डीलरों पर हो सकती है कार्रवाई

एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट ने अब तक 132 बोगस डीलरों पर कार्रवाई की है। इन सभी बोगस डीलरों ने विभाग को गलत एड्रेस और जीएसटी के तहत फेक रजिस्ट्रेशन कराया था। डिपार्टमेंट ने कार्रवाई करते हुए इन सभी बोगस डीलरों के जीएसटी नंबर और लाइसेंस कैंसिल कर दिए। एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट ने पांच बोगस डीलरों पर कार्रवाई करते हुए 17 करोड़ रुपये की पेनल्टी लगाई थी। इसके अलावा इन सभी बोगस डीलरों के जीएसटी नंबर रजिस्ट्रेशन कैंसिल कर दिया था। इनके अलावा 15 और बोगस डीलरों पर कार्रवाई के लिए विभागीय कार्रवाई शुरू की गई है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

कई कंपनियां ऐसी मिली हैं, जो यहां सक्रिय तौर पर काम नहीं कर ही हैं। बावजूद इसके उन्होंने शहर में अपना कारोबार दिखाकर टैक्स चोरी की है। अब इस मामले में विभाग की ओर से कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। - आरके चौधरी, एईटीसी चंडीगढ़

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें