मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

चंडीगढ़ [कैलाश नाथ]। बादलों के प्रति नरमी बरतने का आरोप मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का पीछा नहीं छोड़ रहा है। कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मंत्रियों व विधायकों ने बेअदबी कांड को लेकर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की घेराबंदी की। ज्यादातर मंत्रियों और विधायकों ने मांग रखी कि बेअदबी के आरोपितों को पकड़ो, बादलों पर कार्रवाई करो।

विधायकों की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा, 'इतनी जल्दबाजी न करें, धैर्य रखें। कानूनी रूप से कार्रवाई होगी। पिछली बार बादलों को गिरफ्तार किया था, लेकिन लोगों में बादलों के प्रति सहानुभूति पैदा हो गई थी।' इस पर कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने आक्रामक रुख अपनाते हुए कहा, 'पिछली बार बादलों को भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया था। इस बार गुरु ग्रंंथ साहिब की बेअदबी का मामला है। लोग बेअदबी कांड के दोषियों को सलाखों के पीछे देखना चाहते हैं।'

बेअदबी कांड में सीबीआइ की क्लोजर रिपोर्ट पर कैप्टन ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल व भाजपा के गठजोड़ के कारण सीबीआइ ने क्लोजर रिपोर्ट दी है। साथ ही कैप्टन ने यह भी कहा कि उन्हें यह संकेत मिले हैं कि सीबीआइ इन केसों को री-ओपन करने जा रही है।

जीरा बोले- बादलों की बसों अड्डे पर दिया जा रहा ज्यादा समय

बैठक में विधायक में कुलबीर जीरा ने मुद्दा उठाया कि पिछले ढाई वर्षों में सुखबीर बादल की ट्रांसपोर्ट कंपनी में 60 फीसद का इजाफा हो चुका है। वहीं, इस संबंध में अमरिंदर सिंह राजा वडिंग़ ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को एक पत्र भी लिखा है। इसमें लिखा गया है कि सरकारी बसों को बस अड्डे पर कम समय दिया जाता है, जबकि बादलों की बसों को ज्यादा समय दिया जाता है।

विधायकों ने सीधा-सीधा आरोप लगा दिया कि ट्रांसपोर्ट में अभी भी बादलों की चलती है। ट्रांसपोर्ट अधिकारी बादलों से मिले हुए हैं। इसका फरीदकोट के विधायक कुशदीप सिंह ढिल्लों ने भी समर्थन किया। जहां तक की पूर्व ट्रांसपोर्ट मंत्री अरुणा चौधरी ने भी इसका समर्थन कर दिया। आरोप लगा कि पंजाब में अभी भी पुराने टाइम टेबल ही चल रहा है।

कैप्टन ने कहा- रेफरेंडम-2020 के पीछे आइएसआइ, रंधावा बोले- पंजाब पुलिस

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विधायकों को रेफरेंडम-2020 को लेकर सचेत रहने की सलाह दी। साथ ही उन्होंने इसे पाकिस्तानी एजेंसी आइएसआइ की साजिश बताया। इस पर कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर रंधावा ने कैप्टन की बात को सिरे से काट दिया। उन्होंने कहा कि इसके पीछे पंजाब पुलिस की जुमलेबाजी है। पंजाब में 2020 का कोई असर नहीं है। हालांकि, कैप्टन ने रंधावा की बात को सिरे से खारिज कर दिया।

वेतन वृद्धि की मांग पर कहा- मुलाजिमों को डीए नहीं मिला, आपकी तनख्वाह बढ़ी तो गलत संदेश जाएगा

बैठक में विधायकों ने एक सुर में वेतन वृद्धि की मांग रखी। इस पर कैप्टन ने कहा, राज्य की वित्तीय स्थिति को देखते हुए सरकार मुलाजिमों को न तो डीए दे सकी है और न ही पे कमीशन। ऐसे में अगर विधायकों की तनख्वाह बढ़ाई जाती है तो यह अच्छा संदेश नहीं जाएगा। अत: आप लोग पुन: विचार कर लें।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!