राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि उनकी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का मिशन पंजाब में अगली सरकार बनाना है, न कि सिर्फ कांग्रेस को हराना। एक पूर्व सांसद व कुछ पूर्व विधायकों को अपनी पार्टी में शामिल करने के बाद वह पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

कैप्टन ने कहा कि वह राज्य भर में लोगों से मिल रहे उत्साह से बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही तीनों राजनीतिक दलों कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और शिरोमणि अकाली दल से कई मौजूदा व पूर्व विधायक पंजाब लोक कांग्रेस में शामिल होंगे। अपनी पार्टी के मिशन का जिक्र करते हुए कहा कि वह यहां सिर्फ एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनने के लिए नहीं आए हैं। उनका उद्देश्य सिर्फ पंजाब को बचाना नहीं, बल्कि इसके पुराने सम्मान को भी दोबारा कायम करना है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब लगभग पांच लाख करोड़ रुपये के भारी कर्ज तले दबा है, जो राज्य की कुल जीडीपी का करीब 70 प्रतिशत बनता है। इस रकम को चुकाते हुए कई पीढ़ियां लग जाएंगी। इस मामले में तुरंत सही कदम उठाने की जरूरत है।

चन्नी जानते हैैं, कांग्रेस सत्ता में नहीं लौटेगी

कैप्टन ने हैरानी जाहिर की कि किस तरीके से मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी लोकलुभावन ऐलान कर रहे हैं। संभावित तौर पर वह जानते हैं कि कांग्रेस सत्ता में वापस नहीं आने वाली और अगली सरकार को इसका बोझ उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब ज्यादा समय तक कृषि पर निर्भर नहीं रह सकता और उसे आधुनिक इंडस्ट्री के लिए निवेश की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सितंबर 2021 तक एक लाख करोड़ रुपये पंजाब में निवेश हो चुके थे।

पाकिस्तान की सरकार व आतंकवाद से समस्या है

पड़ोसी देशों से खतरे का जिक्र करते हुए कैप्टन ने कहा कि भारत किसी देश से दुश्मनी नहीं रखना चाहता है। वह व्यक्तिगत तौर पर किसी भी पाकिस्तानी व्यक्ति के विरुद्ध नहीं हैं, लेकिन उनको पाकिस्तान की सरकार और वहां की आतंकवाद की फैक्ट्रियों से समस्या है, जो यहां आतंकवाद का प्रसार करते हैं और देश की सीमाओं पर हमारे जवानों का कत्ल करते हैं।

कैप्टन की चेतावनी, बाज आएं पुलिस अफसर

कैप्टन ने पुलिस अधिकारियों को कांग्रेस नेताओं के इशारे पर पीएलसी के कार्यकर्ताओं को डराने-धमकाने के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि वह वर्दी में ऐसे गुंडों पर भारी पडऩे के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएंगे। वह पुलिस द्वारा मालवा क्षेत्र में पोस्टर लगाने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं को रोकने की खबरों पर प्रतिक्रिया दे रहे थे।

कैप्टन ने कहा कि उन्हें ऐसी खबरें मिली हैं कि पुलिस अधिकारी स्थानीय कांग्रेस नेताओं के कहने पर उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ झूठे मामले दर्ज करने की धमकी दे रहे हैं। उन्होंने हैरानी जताई कि मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी इस तरह की शरारती हरकतों प्रोत्साहन दे रहे हैं। उन्होंने कहा, अगर मौजूदा सरकार में हिम्मत है, तो वह इन गुंडों को ऐसा काम करने के लिए अपनी वर्दी का इस्तेमाल न करने दे। मैं जानता हूं कि ऐसे अधिकारियों से कैसे निपटा जाता है, लेकिन वह राज्य की कानून व व्यवस्था को शांतिपूर्ण बनाए रखना चाहते हैैं।

Edited By: Kamlesh Bhatt