चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शिरोमणि अकाली दल (शिअद) नेताओं पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्‍होंने केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल पर पलटवार करते हुए कहा है कि शिरोमणि अकाली दल धार्मिक समागमों को हाईजैक करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार के दस वर्षों में हमेशा श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार के रुतबे का निरादर किया गया। इसी प्रकार प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के बिना पुष्टि वाले प्रोग्रामों का एलान करके हरसिमरत ने इन दोनों सर्वोच्च पदों के गौरव को चोट पहुंचाई है।

गठबंधन की सरकार में हमेशा अकाल तख्त के जत्थेदार का अनादर हुआ

उन्होंने कहा कि इन दोनों शख्सियतों के प्रोग्राम जारी करने का काम प्रधानमंत्री कार्यालय और राष्ट्रपति भवन का है, लेकिन हरसिमरत ने बड़े गलत ढंग से तय प्रोटोकॉल का उल्लंघन करके केंद्र सरकार में अपनी अनुपस्थिति का प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि यदि उसकी केंद्र में सचमुच ही महत्वपूर्ण भूमिका है, तो उन्होंने केंद्रीय मंत्री के तौर पर राज्य के लोगों के लिए कुछ किया क्यों नहीं? मुख्यमंत्री ने कहा कि अकाली तो कांग्रेस सरकार के हर काम का लाभ लेने के लिए तड़प रहे हैं।

मुख्यमंत्री अमरिंदर ने कहा कि 10 सालों के शासन में हरसिमरत बादल समेत सभी अकाली सत्ता के नशे में चूर होते थे, जिन्होंने अपने दमनकारी राज के दौरान न तो अकाल तख्त साहिब को बक्शा और न ही पंजाब के लोगों के साथ कोई लिहाज किया। उन्होंने केंद्रीय मंत्री को संकुचित राजनीतिक लाभ की खातिर ऐसे कोरे झूठ न बोलने की सलाह दी।

श्री गुरु नानक देव जी 550वें प्रकाश पर्व पर साझा समागमों के मुद्दे पर हरसिमरत बादल की ओर से प्रदेश सरकार के विरुद्ध लगाए गए आरोपों पर कैप्टन ने कहा, 'यह हर कोई भली भांति जानता है कि अहंकार में डूबे हुए अकाली अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिबान के साथ कैसा सुलूक करते रहे। अब भी एसजीपीसी पर अपनी शर्तें थोप कर सिख संस्था का दुरुपयोग करने की घटिया चालें चल रहे है।'

हरसिमरत में सही फैसले लेने की समझ नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा, 'हरसिमरत और अकालियों में सही फैसला लेने की समझ नहीं है।' उन्होंने कहा कि एक तरफ तो हरसिमरत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उसकी सरकार की प्रशंसा कर रही हैं और दूसरी तरफ उनके पति हरियाणा चुनाव में प्रचार के दौरान लोगों को भाजपा उम्मीदवारों की जमानतें जब्त करवाने की अपील कर रहे हैं।

यह भी पढें: हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष तंवर का बडा़ बयान, कहा- राहुल गांधी को खाए जा रहे कुछ पार्टी नेता

उन्‍होंने कहा कि अकालियों की इस दोहरी भूमिका का पर्दाफाश तो राज्य के लोगों ने 2017 में ही कर दिया था। प्रकाश पर्व पर होने वाले समागम साझे तौर पर मनाने के लिए हम कई महीनों से शिरोमणि कमेटी को निजी तौर पर अपीलें कर रहे हैं। अकाली अपनी नेतागिरी जमाने के लिए इन प्रयासों पर पानी फेरने में जुटे हैं। अलग-अलग न्योते देने से इनके घृणित इरादे स्पष्ट हो रहे हैं।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: साईं मंदिर का दान पात्र खोला तो कमेटी के मेंबर रह गए दंग, निकले ऐसे नोट

 

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!