जेएनएन, चंडीगढ़। पंजाब में जल्‍द ही मंत्रिमंडल का विस्‍तार होने की संभावना है। इस संबंध में विचार-विमर्श और नए बनाए जाने वाले मंत्रियों के नामों पर आलाकमान की मुहर लगवाने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह दिल्ली चले गए हैं। मुख्यमंत्री 8 जुलाई को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर बैठक करेंगे। कैप्‍टन के दिल्‍ली जाने के साथ ही पंजाब में मंत्री पद के चाहवानों की हलचल बढ़ गई हैं।

प्रदेश में मुख्यमंत्री समेत इस समय 10 मंत्री हैं। अभी आठ मंत्री और बनाए जाने हैं। यह तय है कि मंत्रिमंडल का विस्तार दो चरणों में होगा। पहले चरण में चार से छह मंत्री बनाए जा सकते हैं। मंत्री पद की आस लगाए विधायकों की लिस्ट काफी लंबी है। विधानसभा में कांग्रेस के 77 विधायक हैं।

मुख्य संसदीय सचिव (सीपीएस) की राह बंद होने के कारण विधायकों का पूरा फोकस मंत्री पद पर आ गया है। माना जा रहा है कि 8 जुलाई को राहुल गांधी के साथ कैप्टन की होने वाली बैठक में मंत्रिमंडल के विस्तार की तस्वीर स्पष्ट हो जाएगी। मंत्री पद की दौड़ में सबसे आगे संगरूर के विधायक विजय इंदर सिंगला हैं। वह राहुल गांधी के करीबी भी हैं और पूर्व सांसद भी।

दूसरे स्थान पर लुधियाना से राकेश पांडे का नाम उभर कर आ रहा है। हालांकि पांडे कैप्टन गुट के तो नहीं हैं लेकिन विवादित भी नहीं हैं। अगर पांडे को पूर्व मुख्यमंत्री राजिंदर कौर भट्ठल के करीबी होने का दंश झेलना पड़ा तो सुरिंदर डाबर का नंबर लग सकता है। इसी प्रकार युवा चेहरे में अमरिंदर सिंह राजा बडिंग़ भी दौड़ में शामिल हैं। हालांकि पिछले दिनों कुछ विवादों में उनका नाम उछलने की वजह से बडिंग़ संदेह के घेरे में आ गए हैं। वह वर्तमान में यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और राहुल गांधी के गुड बुक में भी हैं।

दोआबा को प्रतिनिधित्व देने के लिए होशियारपुर के विधायक सुंदर शाम अरोड़ा का दांव लग सकता है। सुंदर शाम अरोड़ा कैप्टन के गुड बुक में बताए जाते हैं। माना जा रहा है कि मंत्रिमंडल के विस्तार में अमृतसर को एक और मंत्री मिल सकता है। वहां से राज कुमार वेरका प्रमुख दावेदार हैं। वेरका दलित चेहरा भी हैं और राष्ट्रीय एससीएसटी कमीशन के पूर्व वाइस चेयरमैन भी रहे हैं।

गुरदासपुर से सुखजिंदर रंधावा भी दावा ठोक रहे हैं। चूंकि गुरदासपुर से पहले ही तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा और अरुणा चौधरी मंत्री बन चुकी हैं, इसलिए रंधावा के मंत्री बनने पर संदेह जताया जा रहा है। सूत्र बताते हैं कि मंत्रिमंडल के विस्तार में पठानकोट से पहली बार जीत कर आए अमित विज की भी लॉटरी लग सकती है। विज एक बड़े कारपोरेट घराने के करीबी हैं, इसका लाभ उन्हें मिल सकता है। इसके अलावा गुरहरसहाय के राणा सोढ़ी का मंत्री बनना लगभग तय है, जबकि समराला से अमरीक ढिल्लों भी दौड़ में शामिल हैं।

जाखड़ भी हो सकते हैं बैठक में शामिल

राहुल गांधी के साथ कैप्टन अमरिंदर सिंह की होने वाली बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ के भी शामिल होने की उम्मीद है। इस समय जाखड़ अमेरिका गए हुए हैं। माना जा रहा है कि शुक्रवार देर शाम तक वे लौट आएंगे।
 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!