जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। मॉनसून सीजन के चलते शरह में विभिन्न संगठन पौधोरोपण अभियान चला रहा हैं। वहीं, वन विभाग की तरफ से वन महोत्सव भी मनाया जा रहा है। चंडीगढ़ को ग्रीन सिटी के नाम से भी जाना जाता है। देश के दूसरे शहरों के मुकाबले चंडीगढ़ में ग्रीन एरिया कवर ज्यादा है। वहीं, शहर में पेड़ों की संख्या भी बहुत हैं और 30 से ज्यादा पेड़ों को तो हेरिटेज का दर्जा मिल चुका है। लेकिन पेड़ों की संभाल और पौधारोपण अभियान के तहत शहर की हरियाली को बचाया जा सकता है।

पर्यावरण को स्वच्छ और हरा भरा बनाए रखने के लिए भाजपा उत्तराखंड प्रकोष्ठ की ओर से अनोखा प्रयास किया गया है। हरेला पर्व के चलते भाजपा उत्तराखंड प्रकोष्ठ चंडीगढ़ ने पूरे शहर में पौधारोपण अभियान शुरू किया है। इस कड़ी में अभी तक प्रकोष्ठ की ओर से तीन हजार से ज्यादा पौधों का रोपण किया जा चुका है। भाजपा उत्तराखंड प्रकोष्ठ चंडीगढ़ के मीडिया प्रभारी शशि प्रकाश पांडे ने बताया कि यह अभियान प्रकोष्ठ  के संयोजक भूपेंद्र शर्मा की देख रेख में चलाया जा रहा है। इसमें प्रकोष्ठ सभी वार्डों में पौधे बांटकर लोगों को शहर की हरियाली को बढ़ाने में योगदान देने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रकोष्ठ का उद्देश्य शहर में पांच हजार पौधे लगाने का लक्ष्य है। लोगों को पौधे बांटकर लोगों को इन्हें पार्कों में या घरों के आसपास लगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

मीडिया प्रभारी शशि ने और संयोजक भूपेंद्र शर्मा ने चंडीगढ़ के भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद का  भी धन्यवाद किया है कि उन्होंने हमारे विश्व हरेला पर्व मनाने के लिए सहयोग किया है। उन्हाेंने बताया कि अभी तक 250 से ज्यादा पौधो लोगों को बांटे जा चुके हैं। पौधारोपण अभियान के दौरान आम, जामून, बेलपत्र और कुछ फूलों के पौधे भी लगाए जा रहे हैं। उन्हाेंने कहा कि पौधे लगाओ धरती बचाओ थीम पर इस अभियान का आयोजन किया जा रहा है।

Edited By: Ankesh Thakur