जेएनएन, चंडीगढ़। शहर के सभी राउंड अबाउट की हालत बेहद खराब है। बमुश्किल से कुछ सड़कों की हालत सुधरी थी, लेकिन राउंड अबाउट पर ध्यान देना प्रशासन ने मुनासिब नहीं समझा। नौबत यह है कि कोई राउंड अबाउट समतल नहीं बचा है। गड्ढे इतने बड़े हैं कि इनमें संतुलन बिगडऩा तय है। रोजाना कई बार वाहन पीक ऑवर्स में तेजी से निकलने के चक्कर में टकरा जाते हैं। जिससे खराब राउंडअबाउट झगड़े का कारण भी बन रहे हैं। शहर के दो प्रमुख मध्य और दक्षिण मार्ग के राउंड अबाउट भी ठीक नहीं हैं।

मध्यमार्ग पर सेक्टर-26 मंडी और सेक्टर-7 वाले राउंड अबाउट पर बड़े गड्ढे उभर आए हैं। प्रशासन इनकी रीकारपेटिंग करने की बजाए कामचलाऊ तरीके से मिट्टी भरकर इन्हें बंद कर रहा है। सेक्टर-26 मंडी वाले राउंड अबाउट को प्रशासन ने मॉडल राउंड अबाउट बनाया था। इसी की तर्ज पर बाकी सभी राउंडअबाउट पर भी साइकिल ट्रैक बनाए गए हैं। इस राउंड अबाउट पर पैदल, साइकिल और रिक्शा चालकों की आवाजाही काफी रहती है, लेकिन इस पर से जब वाहन स्पीड से गुजरते हैं तो कई बार गड्ढे से बचने के चक्कर में दूसरों को नुकसान पहुंचाते हैं। यही हाल सेक्टर-7 और पीजीआइ राउंड अबाउट का भी है। इसी तरह से दक्षिण मार्ग पर भी कई राउंड अबाउट पर सड़कें टूट चुकी हैं। राउंड अबाउट ट्रैफिक फ्लो को कंट्रोल कर स्मूथ करता है। चंडीगढ़ को देखकर पंचकूला, मोहाली जैसे कई शहरों में राउंड अबाउट जगह-जगह चौक पर बन चुके हैं, लेकिन इनकी मेंटेनेंस समय पर नहीं होने से चंडीगढ़ की पहचान को नुकसान पहुंच रहा है।

बरसात में स्थिति और होगी खराब

मॉनसून आने में 15 दिन बचे हैं। प्रशासन अभी भी राउंड अबाउट की हालत को लेकर गंभीर नहीं है। बरसात शुरू होते ही गड्ढों में पानी भर जाएगा और वाहनों की आवाजाही से यह गहरे होंगे। ऐसे में हादसों को खुद न्योता दिया जा रहा है। जो सड़कें पहले से टूटी हैं, उनपर बरसात के दिनों में चलना मुश्किल होने वाला है। बजरी निकलने से स्लिप होने का खतरा बना रहता है।

सड़कों की रीकारपेटिंग के काम में हुई देरी

चंडीगढ़ के एडवाइजर मनोज कुमार परिदा का कहना है कि सड़कों की रीकारपेटिंग के काम में कुछ देरी हुई है। जिसे काम सौपा था उस पर एफआइआर होने के कारण टेंडर कैंसल किया था, लेकिन मामला कोर्ट चला गया। अब मामला सुलझने वाला है। इसके बाद रीकारपेटिंग वर्क तेजी से शुरू होगा। सड़कों के साथ राउंडअबाउट की रीकारपेटिंग भी करवाई जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप