चंडीगढ़, [कैलाश नाथ]। पंजाब में ज्यादा सीटों पर चुनाव लडऩे को लेकर भाजपा बड़ी तैयारी में है। शिरोमणि अकाली दल से अगले विधानसभा चुनाव में सीटों के तालमेल में भाजपा नए दांव की तैयारी में है। अभी तक भाजपा 49 सीटों पर चुनाव लडऩे की बात करती रही थी, लेकिन खुल कर कोई भी नेता सामने नहीं आता था। अब भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री मदन मोहन मित्तल ने पंजाब में भाजपा के 59 सीटों पर चुनाव लडऩे का दावा ठोका है। उनका यह भी दावा है कि पार्टी हाईकमान ने भी इसके लिए तैयारी करने को कहा है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता मदन मोहन मित्तल ने किया दावा, कहा- पार्टी हाईकमान ने तैयारी करने के लिए कहा

भाजपा प्रदेश की 117 विधानसभा सीटों में से 23 पर चुनाव लड़ती है। बाकी पर अकाली दल लड़ता है। मित्तल ने यह दावा तब किया है जब बीते वीरवार को ही पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने भाजपा को नसीहत दी थी कि वह सहयोगी पार्टियों को साथ लेकर चले।

पंजाब विधानसभा चुनाव में अभी 117 में से 23 सीटों पर भाजपा लड़ती है चुनाव

भविष्य में कभी चुनाव न लड़ने की बात कर चुके मित्तल ने जागरण से बातचीत में कहा कि पार्टी हाईकमान को पंजाब यूनिट ने स्पष्ट कह दिया था कि प्रदेश प्रधान हमें ऐसा चाहिए जो 59 सीटों पर चुनाव लड़े, ना कि 23 सीटों तक सीमित रहे। मित्तल ने दावा किया कि तभी भाजपा ने अश्विनी शर्मा को प्रधान बनाया है और पार्टी ने 59 सीटों पर लडऩे की तैयारी भी शुरू कर दी है।

एक सवाल के जवाब में मित्तल ने कहा कि हम गठबंधन में रहकर ही 59 सीटें मांग रहे हैं। उनसे जब पूछा गया कि अकाली दल इतनी सीटों को लेकर तैयार नहीं हुआ तो क्या गठबंधन रहेगा तो बोले- न तो हम गठबंधन तोडऩा चाहते हैं और न ही वो। हम तो गठबंधन में रहते हुए ही सीटें बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। एक अन्य सवाल के जवाब में मित्तल ने कहा- भाजपा में ज्यादा सीटों को लेकर मांग तो उठती थी, लेकिन पार्टी हाईकमान के पास जाने को लेकर तैयारी नहीं होती थी। 2017 में विधानसभा चुनाव थे।

उन्‍होंने कहा कि दिसंबर 2016 में हमने पार्टी हाईकमान से सीटें बढ़ाने की बात कही, लेकिन जब तैयारी के बारे में पूछा गया तो हमारे पास कोई जवाब नहीं था। अब पंजाब में पार्टी की नींव मजबूत है, इसलिए पार्टी 59 सीटों पर चुनाव लडऩे की बात कह रही है।

अहम बात यह है कि भाजपा के प्रदेश प्रधान अश्विनी शर्मा की तरफ से अभी तक इस संबंध में कोई बयान नहीं आया है। मित्तल से पूछा गया कि अकाली दल के प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा व जत्थेदार तोता सिंह भाजपा द्वारा ज्यादा सीटों की मांग का विरोध कर रहे हैं तो उन्होंने कहा- वे अपनी पार्टी की बात कह रहे हैं, हम अपनी पार्टी की बात कह रहे हैं। जब सीटों के बंटवारे को लेकर दोनों पार्टियां बैठेंगी तब सही तस्वीर उभर कर सामने आएगी।

ग्रामीण सीटों पर भी लड़ेगी भाजपा

भाजपा क्या शहरी सीटों पर चुनाव लड़ेगी जैसे सवाल के जवाब में मित्तल कहते हैं कि पंजाब में किसानों, सिखों व व्यापारियों की मानसिकता को देखना पड़ेगा। भाजपा केवल शहर ही नहीं ग्रामीण क्षेत्रों में भी चुनाव लड़ेगी। भाजपा द्वारा सीटों की पहचान करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि एक बार मैंने 49 सीटों की लिस्ट ब्रिगेडियर जगदीश गगनेजा को सौंपी थी। उसके बाद गगनेजा की हत्या हो गई। अब नए सिरे से सीटों की पहचान करने का काम चल रहा है। उल्लेखनीय है कि गगनेजा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ नेता थे जिन्हें जालंधर में गोली मार दी गई थी।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें



यह भी पढें: रेलवे पश्चिम एक्‍सप्रेस ट्रेन का रूट बदलेगा, अब चंडीगढ़ होते हुए जाएगी अमृतसर


यह भी पढ़ें: महाशिवरात्रि पर 117 साल बाद शनि और शुक्र का दुर्लभ योग, विष दोष व सर्प दोष से मिलेगी मुक्ति


 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!