चंडीगढ़, [कैलाश नाथ]। Captain Amrinder Singh and BJP: पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा अपनी पार्टी बनाकर भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन करने की इच्छा व्यक्त करने के बाद से भाजपा के न सिर्फ सुर बदल गए है बल्कि पार्टी में एक गजब का उत्साह भी देखा जा रहा है। किसान आंदोलन के कारण पंजाब में अलग-थलग नजर आ रही भाजपा कैप्टन के अपनी पार्टी बनाने के बयान से खासी उत्साहित नजर आ रही है। भाजपा ने भी कैप्टन के लिए अपनी बांहे फैलानी शुरू कर दी है। पार्टी के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम ने कहा है, कैप्टन एक राष्ट्रवादी सोच वाले नेता है। भाजपा के दरवाजे हर उस व्यक्ति या पार्टी के लिए खुले है जिसकी सोच राष्ट्रवादी हो।

पंजाब भाजपा प्रभारी ने कहा, कई मौकों पर कैप्टन ने कांग्रेस की राष्ट्रविरोधी नीति का नहीं किया समर्थन

वहीं, कैप्टन के भाजपा के साथ गठबंधन करने के बयान से प्रदेश इकाई में खासी उत्साह पाया जा रहा है। क्योंकि,  पंजाब की भाजपा इकाई ने यह महसूस करना शुरू कर दिया है कि अगर ऐसा कोई गठबंधन होता है तो निश्चित रूप से किसान आंदोलन का भी हल निकल जाएगा। किसान आंदोलन को खड़ा करने में कैप्टन की बड़ी  भूमिका  थी और अब कैप्टन अगल पार्टी बना कर भाजपा के साथ गठबंधन करने की इच्छा रखते है तो निश्चित रूप से पार्टी का शीर्ष नेतृत्व किसान आंदोलन का समाधान निकाल ही लेगा।

प्रदेश भाजपा की परेशानी इसलिए भी रही है कि किसान आंदोलन के कारण उनका फील्ड में निकल कर सार्वजनिक समारोहों में हिस्सा लेना मुहाल हुआ पड़ा है। किसान संगठन भले ही लगभग सभी राजनीतिक पार्टियों का विरोध कर रहे हों लेकिन सबसे ज्यादा आक्रामक वह भाजपा नेताओं को लेकर रहे हैं। वहीं, प्रदेश इकाई की यह भी चिंता रही है कि पंजाब में अकेले दम पर अपनी पहचान बनाने का यह स्वर्णिम अवसर है। क्योंकि कांग्रेस में जबरदस्त अंतरकलह चल रही है। ऐसे में भाजपा अकेले दम पर सत्ता के गलियारे का दरवाजा खटखटा सकती है।

यह भी पढ़ें: पंजाब में कैप्‍टन अमरिंदर की बड़े सियासी उलटफेर की तैयारी, जानें भाजपा संग क्‍या होगा नया सियासी रोडमैप

दुष्यंत गौतम कहते हैं, पार्टी बनाना कैप्टन का संवैधानिक अधिकार है। वह कहते हैं, देश में दो प्रकार की विचारधारा चल रही है। एक राष्ट्रवाद और दूसरा परिवारवाद। राष्ट्रवाद के कारण ही भाजपा दो सीटों से 303 सीटों तक पहुंच गई। परिवारवाद वाली पार्टी का हश्र सभी देख रहे है। पंजाब में यह लोग आपस में ही कुर्सी के लिए लड़ रहे हैं। एक सवाल के जवाब में प्रदेश प्रभारी गौतम ने कहा कि कैप्टन एक सैनिक हैं। उनकी सोच भी राष्ट्रवाद की रही है। यही कारण है कि कई मौतों पर कैप्टन ने कांग्रेस की राष्ट्रविरोधी नीति का विरोध कर राष्ट्रवाद का समर्थन किया है। भाजपा और कैप्टन की यह सोच एक जैसी ही है।

यह भी पढ़ें: Captain Amrinder Singh New Party: कैप्टन अमरिंदर की पार्टी बनाने की घोषणा से कांग्रेस में खलबली, परेशाान पार्टी काे बड़े नुकसान की चिंता

उन्‍होंने कहा कि इसके कई उदहारण है। चाहे करतारपुर कारीडोर हो या सर्जिकल स्ट्राइक या पुलवामा हमला। कैप्टन ने हमेशा ही राष्ट्रवाद का साथ दिया है। जहां तक बात है कैप्टन द्वारा पार्टी बनाकर पर गठबंधन करने का तो भाजपा के दरवाजे राष्ट्रवादी सोच और पार्टी के लिए हमेशा ही खुले हुए हैं। वहीं, भाजपा के प्रदेश महासचिव जीवन गुप्ता ने भी कैप्टन के राष्ट्रवाद नीति का समर्थन किया है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें   

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Edited By: Sunil Kumar Jha