मोहाली, जेएनएन। खरड़ सब डिवीजन के अधीन आने वाले कस्बा बलौंगी की नगर पंचायत ने गोशाला का निर्माण करने के लिए 10 एकड़ जमीन लीज पर दी है। इस जमीन पर बाल गोपाल बसेरा द्वारा गोशाला बनाई जाएगी, जोकि आधुनिक सुविधाओं से लैस होगी। इस गोशाला में जहा लावारिस पशुओं को रखने का प्रबंध होगा। वहीं कुत्तों के लिए भी डाग पाउंड बनाया जाएगा। ताकि लावारिस कुत्तों से भी लोगों को राहत मिल सके। गोशाला के शुरू होने के बाद शहर में लावारिस पशुओं और कुत्तों की समस्या से लोगों को कुछ हद तक राहत मिलेगी। नई गोशाला नाम 'बाल गोपाल गो बसेरा' होगा।

बाल गोपाल बसेरा को बहुत ही आधुनिक तकनीक से तैयार किया जाएगा। इसके लिए विशेषज्ञों की सलाह ली जाएगी। गो बसेरा अपना खर्च खुद उठाने में सक्षम होगा। इस गोशाला में लावारिस कुत्तों को रखने के लिए अलग से एक विशेष स्थान बनाया जाएगा। पशुओं की देखभाल के लिए शहरवासियों की ओर से ट्रस्ट बनाकर गोपाल गो बसेरा बनाने का काम शुरू किया गया है। मोहाली गोशाला में करीब 600 पशुओं को रखने की क्षमता है। लेकिन अब वहा पर करीब 1100 पशु रखे गए हैं। जबकि ज्यादातर पशु सड़कों पर ही हैं। हालाकि लालडू में भी गोशाला को शिफ्ट करने की योजना है। जिस पर काम चल रहा है।

शहर में गोशाला बनाने की माग लंबे समय से चली है। बाल गोपाल गो बसेरा का नींव पत्थर हाल ही में स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने रखा था। इस गोशाला में योगदान देने के लिए कई उद्योगपति व स्थानीय लोग भी सहयोग कर रहे है। हालाकि प्रशासन द्वारा भी गोशाला में सहयोग करने की बात कहीं जा रही है। प्रशासन ने भी अनुरोध किया है कि वे गोशाला में सहयोग देने के लिए आगे आए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!