चंडीगढ़, जेएनएन। पंचकूला और मोहाली से चंडीगढ़ में आने वाले ऑटो रिक्शा के प्रवेश और एंट्री टैक्स को लेकर चल रहे विवाद के बाद ऑटो चालकों ने एकजुटता दिखाते हुए चंडीगढ़ प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।प्रशासन के रवैये के खिलाफ ऑटो यूनियन के आह्वान पर ऑटो चालक ने सोमवार को पूर्ण रूप से चक्का जाम किया। चक्का जाम के दौरान ऑटो यूनियन ने चंडीगढ़ के सेक्टर-17 में प्रशासन के खिलाफ धरना दिया।

हिंद ऑटो रिक्शा वर्कर यूनियन के प्रेसिडेंट अनिल कुमार ने बताया कि चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा मोहाली और पंचकूला से आने वाले ऑटो के साथ धक्का करते हुए, उनको एंट्री प्वाइंट पर परमिट और एंट्री टैक्स में उलझा कर रोक दिया जाता है। उनके पास कागजात पूरे होते हैं पर उन्हें शहर में प्रवेश ही नहीं करने दिया जाता। उनकी दिक्कत ये है कि ऑटो में सीएनजी भरवाने के लिए चंडीगढ़ ही आना पड़ता है।

चंडीगढ़ में एंट्री करने पर हर ऑटो वालों को चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट विभाग टैक्स देने के लिए कहता है। ट्राईसिटी में चल रही एचआर-68 की प्राइवेट नंबर्स की बस, जोकि स्कूलों से बच्चों को लाने व छोडऩे का काम करती है, लेकिन उनके पास भी न तो परमिशन है और न ही कोई परमिट। जब प्रशासन उन्हें शहर में एंट्री करने से नहीं रोकता, तो ऑटो चालकों को क्यों परेशान किया जाता है। यूनियन ने अब प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए ट्राईसिटी में सोमवार से पूर्ण रूप से चक्का जाम करने का फैसला किया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!