जेएनएन, चंडीगढ़। पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट और पंजाब सचिवालय को बम से उड़ाने की धमकी भरा पत्र मिलने के बाद सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पत्र में लिखा गया है कि 16 अक्टूबर को दोनों बिल्डिंग्स को बम से उड़ाने की खुली धमकी है। एहतियात के तौर पर एसएसपी के नेतृत्व में ऑपरेशन सेल, बम स्क्वायड, डॉग स्क्वायड सहित काफी पुलिस फोर्स की तैनाती कर चप्पे-चप्पे पर चेकिंग की जा रही है। इसके अलावा चंडीगढ़ के सभी एंट्री और एग्जिट प्वाइंट सहित सभी सार्वजनिक स्थानों पर स्थानीय थाना प्रभारी के नेतृत्व में अलग-अलग टीमें चेकिंग कर रही है। पुलिस विभाग की ओर से सभी होटल, सराय, मंदिर, गुरुद्वारे और धर्मशाला में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। एसएसपी का दावा है कि सुरक्षा व्यवस्था में किसी भी तरह की कोताही नहीं बरती जाएगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 12 अक्टूबर को हाई कोर्ट के अंदर रजिस्टर ऑफिस में पंजाबी भाषा में लिखा हुआ धमकी भरा पत्र मिला था। जिसमें लिखा हुआ था कि वह मोहाली के गांव निवासी परमजीत है। वह बुडैल जेल में मारपीट केस में बंद रहने के दौरान दो युवक हामिद और असलम से मिला था। उन्होंने बताया कि ज्यादा पैसा कमाने हैं तो हाईकोर्ट और पंजाब सचिवालय उड़ाना होगा। जिसके बाद उसके साथ वह दोनों की जमानत से बाहर आ गए थे। 12 अक्टूबर को दोनों उसके घर आए और उसे लेकर गुरदासपुर गए और वापस आकर कुछ बातचीत करने के बाद घर छोड़ दिया। पत्र में लिखा कि वह देश भक्त है इसलिए दोनों संदिग्ध द्वारा पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट और पंजाब सचिवालय उड़ाने की साजिश की जानकारी रजिस्टर को दे रहा है।

पत्र में लिखा परमजीत का पता सही

पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि पत्र में लिखे पते पर परमजीत नाम का व्यक्ति रहता तो है, लेकिन उसका कोई भी क्रिमिनल रिकार्ड नहीं है। इससे पहले भी गैंगस्टर दिलप्रीत ढाहा के नाम पर कॉल कर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट को उड़ाने और जजों को गोली मारने की धमकी मिल चुकी हैं।

 

पहले भी मिली धमकियां

12 अगस्त: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर वीवीआइपी की मौजूदगी के बीच चंडीगढ़ पुलिस कंट्रोल रूम में अज्ञात व्यक्ति ने इंटरनेट कॉल कर एलांटे मॉल में बम होने की धमकी दी थी। इससे हड़कंप मच गया था। एसएसपी नीलांबरी जगदाले के नेतृत्व में पूरी पुलिस फोर्स, बम-डॉग स्क्वॉयड और सीआरपीएफ की टीम ने साढ़े पांच घंटे खंगाला। पुलिस अभी तक कॉलर आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

 

28 फरवरी: भारत-पाकिस्तान के बिगड़े माहौल के बीच सुबह 10 बजे यूटी पुलिस के दड़वा चौकी के सरकारी नंबर पर पाकिस्तान के नंबर से कॉल की गई थी। कॉलर ने धमकी भरे शब्दों में कहा था कि चंडीगढ़ पुलिस से बोल रहे हो..तुम डेढ़ घंटे में देख लेना। मगर इस मामले में भी पुलिस कॉलर को पकड़ नहीं पाई। इसके अलावा गुरदासपुर में आतंकी हमले के बाद चंडीगढ़ दड़वा चौकी पुलिस को धमकी भरी कॉल मिली थी। कॉलर ने जल्द से जल्द चौकी को उड़ाने की धमकी दी थी। इस केस में भी पुलिस कॉलर को ट्रैस नही कर पाई है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!