जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। सेक्टर-18 स्थित गवर्नमेंट प्रेस बिल्डिंग में प्रेस बंद करने के बाद इसमें हेरिटेज म्यूजियम बनाने का काम शुरू हुआ था। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर इस प्रोजेक्ट में शुरू से ही खासी रूचि दिखा रहे हैं। लेकिन कई बार प्रयास करने के बाद भी किसी एजेंसी से यह म्यूजियम चलाने के लिए प्रस्ताव नहीं मिला। शर्तों में छूट तक दी गई। बावजूद इसके कोई भी इसे चलाने को तैयार नहीं है। यह इमारत चंडीगढ़ की धरोहर है। इस इमारत को हेरिडेज का दर्जा मिला है।

अब प्रशासन ने यह बिल्डिंग एयरफोर्स को सौंपकर एयरफोर्स म्यूजियम बनवाने की तैयारी कर ली है। इसके लिए एयरफोर्स से टायअप किया जा चुका है। इतना ही नहीं एयरफोर्स की टीम बिल्डिंग की विजिट कर लोकेशन और बिल्डिंग देखी चुकी हैं। बताया जा रहा है कि इस बिल्डिंग में एयरफोर्स केरल स्थित अपने म्यूजियम के तौर नया म्यूजियम बनाने का काम कर रही है। हालांकि अभी इस पर फाइनल निर्णय नहीं हुआ है। लेकिन प्रशासन म्यूजियम अपने स्तर पर बनाने से फिलहाल हाथ पीछे खींच चुका है। यह म्यूजियम प्रशासक वीपी सिंह बदनौर का ड्रीम प्रोजेक्ट है, लेकिन म्यूजियम को चलाने के लिए प्रशासन के कल्चरल डिपार्टमेंट की ओर से किया गया दूसरा टेंडर भी फेल हो गया। इसके बाद अब उम्मीद कम रह गई है। प्रशासक बदनौर का कार्यकाल सितंबर में पूरा हो रहा है। इस वजह से वह इस बिल्डिंग में म्यूजियम का काम शुरू कराने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। बिल्डिंग की रेनोवेशन का काम भी तेजी से चल रहा है।

पहले यहां बना है एयरफोर्स का म्यूजियम

केरल के तिरुवनंतपुरम के गांव अक्कुमल में भी वायु सेना का म्यूजियम है। प्रशासन उसी की तर्ज पर चंडीगढ़ में म्यूजियम का निर्माण करना चाहता है। अगर यह बनता है तो बच्चों के लिए यह विशेष तौर पर लाभकारी होगा। बच्चों को एयरफोर्स से जुड़े साजो सामान को करीब से देखने जानने का मौका मिलेगा। साथ ही उन्हें एयर फोर्स ज्वाइन करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकेगा।

Edited By: Ankesh Thakur