जेएनएन, जीरकपुर। मानसून ने अब अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया। अगले दो दिन क्षेत्र में भारी बरसात की संभावना है, जिसको लेकर राज्य सरकार ने हाई अलर्ट भी जारी किया है। वहीं, शहर में शनिवार देर रात से हो लगातार बारिश से कई इलाके पानी में डूबे नजर आए। शहर के एमएस एन्कलेव ढकोली, पीरमुछल्ला, किशनपुरा, गोविंद विहार बलटाना, हेम विहार बलटाना, ट्रिब्यून कॉलोनी, बादल कॉलोनी, दशमेश कॉलोनी, ग्रीन एन्कलेव, शिवालिक विहार, सावित्री एन्कलेव, जमुना एन्कलेव, एकेएस कॉलोनी, मेट्रो माल के सामने, सिंघपुरा चौक आदि क्षेत्रों में पानी की सही निकासी न होने के कारण कारण घरों और दुकानों में एक एक फीट पानी भर गया।

भाखड़ा बांध से पानी छोड़े जाने वाले मैसेज से लोग टेंशन में बरसात ने गर्मी से राहत तो दिलाई पर शहर में सीवरेज और ड्रेनेज व्यवस्था ठीक न होने के चलते शहर के निचले इलाकों और बंद सड़क वाले रास्तों वाले मोहल्लों में लोगों के घरों में रात डेढ़ बजे से पानी घुस गया जिस वजह से लोगों को रात जाग कर काटनी पड़ी। वहीं सोशल मीडिया भाखड़ा बांध से पानी छोड़े जाने वाले मेसेज ने भी लोगों कों टेंशन में डाला हुआ है। हालांकि जीरकपुर में भाखड़ा का पानी पहुंचने की अफवाह का अधिकारियों ने खंडन किया। घग्घर नदी के किनारे से हटाई झुगियां मौसम विभाग चंडीगढ़ की तरफ से भारी बरसात की चेतावनी दी गई है, जिसको देखते हुए पंजाब सरकार नें अगले 48 से 72 घंटों के लिए हाई अलर्ट जारी किया हुआ है। यदि मौसम विभाग की भविष्यवाणी सही साबित होती है तो अगले दो दिन शहर के लिए आफत भरा हो सकते हैं।

वहीं घग्घर नदी भी पूरे उफान पर है। नदी किनारे झुग्गियों में भी जलभराव हो गया है। प्रशासन ने उक्त जगह को खाली करवाया है। जीरकपुर मुबारकपुर काजवे सड़क को भी आम लोगों के लिए बंद करवा दिया। काउंसिल नहीं करती लोगों की समस्या का हल क्षेत्र के लोगों का कहना है कि हर बारिश उनके लिए सजा बन चुकी है क्योंकि दुकानों अंदर पानी भरने से काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि पिछले काफी समय से शहर के सीवरेज और ड्रेनों की सफाई नहीं हुई, जिसका खामियाजा लोग भुगत रहे हैं। इस संबंधित दर्जनों बार नगर काउंसिल को शिकायत की गई पर समस्या तस की मस बनी हुई है। लोगों ने कहा कि बीते 10 साल से वह यह सब झेल रहे हैं। मजबूरन अब उन्हें संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़ेगा।
 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!