जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : 11वीं कक्षा की चौथी काउंसलिंग के पहले दिन 175 सीटों को भरा गया। उल्लेखनीय है कि तीन काउंसलिंग के बाद 85 सीटें भरी ही नहीं गई थी और 1169 सीटों को माइग्रेशन के चक्कर में छोड़ दिया। इसके चलते कुल 1254 सीटों पर काउंसलिंग होनी है। पहले दिन के दौरान डेढ़ हजार के करीब स्टूडेंट्स को बुलाया गया, लेकिन पसंदीदा स्कूल और संकाय नहीं मिलने के कारण मात्र 175 सीटों पर ही दाखिला हो सका। बाकी की सीटों पर बुधवार को सुबह 9 बजे से काउंसलिंग शुरू होगी। जिसमें पहले से रजिस्ट्रर और 45 प्रतिशत से ज्यादा अंक वाले स्टूडेंट्स भाग ले सकते हैं। स्टूडेंट्स को दाखिला मिलने पर बुधवार को ही फीस भी जमा करानी होगी। पसंदीदा संकाय और स्कूल नहीं मिलने पर किया हंगामा

दाखिले के लिए पहुंचे अभिभावकों का कहना था कि उनके बच्चों को उन स्कूलों में दाखिला नहीं मिल रहा है। जहां वह मांग कर रहे हैं, जबकि इससे पहले उससे भी कम प्रतिशत वाले स्टूडेंट्स को उन्हीं स्कूलों में दाखिला मिला है। नयागांव से दाखिले के लिए पहुंचे अविनाश ने बताया कि बच्चे को गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल सेक्टर-16 या फिर 10 में एडमिशन कराना चाहते हैं, लेकिन विभाग की तरफ से साफ इंकार कर दिया कि 52 प्रतिशत वाले स्टूडेंट को दाखिला नहीं मिलेगा, जबकि स्कूल में इससे भी कम प्रतिशत वाले स्टूडेंट पढ़ाई कर रहे हैं।

जो एडमिशन तीसरी काउंसलिंग में हो चुकी हैं, उसे अब कैंसिल नहीं किया जा सकता है। यदि सीटें पहले कम प्रतिशत में भरी गई है तो अब विभाग उसमें कुछ नहीं कर सकता।

अनुजीत कौर, जिला शिक्षा अधिकारी।

Posted By: Jagran