चंडीगढ़, जेएनएन। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की रोकथाम के लिए रविवार से लगाए गए लोकडाउन व कर्फ्यू के बीच कांग्रेस ने शहरवासियों के सामने पेश आ रही दिक्कतों का मुद्दा उठाया है। चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा ने कहा है कि जिस तरह कर्फ्यू से शहर में अस्थिरता के माहौल हैं, उसे देखते हुए सभी पार्टियों के जनप्रतिनिधियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रशासक वीपी सिंह बदवोर के साथ बात करनी चाहिए। आज कालोनियों, सेक्टरों व गांवों में जमीनी हकीकत एक जैसी नही है। प्रशासन बिना तजुर्बे के हर दिन नया फैसला लेकर असमंज में डाल रहा है। 

छाबड़ा ने कहा कि एक तरफ प्रशासन आदेश दे रहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है। दूसरी ओर प्रतिदिन के जरूरी सामान जैसे दूध, राशन, सब्जियां व फल लेना भी जरूरी है। कभी वेंडर को पास, कभी सरकारी बस के माध्यम से, कभी राशन-दवाइयों की होम डिलीवरी आदि सुविधाएं सुचारू रूप से उपलब्ध नहीं हो रही। जरूरी सामान की आसमान छूती कीमतों व कालाबाजारी के बाद अब 10 बजे से 6 बजे राशन, सब्जियों व दवाइयों की दुकान खोलने की इजाजत देना कहीं घातक साबित ना हो जाए।

सभी पार्टियों के नेता व कार्यकर्ता सेक्टर, कालोनियों व गांवों में रहते हैं। वहां की भौगोलिक स्थिति व परेशानियों से हमें अवगत कराया जा रहा है। इस समस्याओं को प्रशासन तक नही पहुंचाया जा रहा। अगर प्रशासन सभी पार्टियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से उनकी राय व सलाह ले, तो हम मिलकर सभी दिक्कतों को जल्द दूर कर सकते है। इस बैठक में पूर्व सांसदों को भी शामिल किया जाए। उनकी राय से भी बहुत मदद मिलेगी। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vikas_Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!