चंडीगढ़, जेएनएन। शादी का झांसा देकर नाबालिग से दुष्कर्म के अाराेपित काे जिला अदालत ने दोषी करार देते हुए दस साल कैद की सजा सुनाई है। साथ ही 55 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है। अदालत ने जुर्माने में से 50 हजार रुपये पीडि़ता को देने और पांच हजार रुपये सरकारी अकाउंट में जमा करवाने के लिए आदेश दिए हैं। दुष्कर्म करने वाला दोषी भी नाबालिग है।

मामले का खुलासा तब हुआ जब नाबालिग गर्भवती हो गई थी। नाबालिग ने जिस बच्चे को जन्म दिया था, उसकी इलाज के दौरान कुछ दिनों बाद ही मौत हो गई थी। पुलिस ने दोषी नाबालिग पर मामला दर्ज कर उसे काबू किया था। 12 जून, 2018 को सेक्टर-34 थाना पुलिस को सेक्टर-32 अस्पताल से मामले की सूचना मिली थी। मौके पर जाकर लेडी कांस्टेबल ने 16 वर्षीय पीडि़ता के बयान दर्ज किए थे। अपने बयानों में पीडि़ता ने बताया कि उसकी मम्मी कोठियों में काम करती है। पीछे से वह घर पर अकेली रहती थी।

प्रेग्नेंट होने के बाद हुआ था मामले का खुलासा

एक साल से उसकी दोस्ती दोषी के साथ थी और दोनों शादी करना चाहते थे। दोषी ने शादी का झांसा देकर उसके साथ संबंध बनाए और वह प्रेग्नेंट हो गई। डर के मारे इसके बारे में किसी से जिक्र नहीं किया। लेकिन 11 जून की रात को जब पेट में दर्द हुआ तो अपनी मां को सारी बात बताई। इसके बाद अस्पताल में भर्ती किया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर नाबालिग को गिरफ्तार कर लिया था। पीडि़ता ने बच्चे को जन्म दिया लेकिन 25 जून को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Vipin Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!