चंडीगढ़, [इन्द्रप्रीत सिंह]। Punjab Assembly Election 2022: पंंजाब ही नहीं देश के सबसे वयोवृद्ध नेताओं में शामिल पंजाब विधानसभा चुनाव में भी सियासी पारी खेलने के मूड में हैं। आने वाले 8 दिसंबर को 94 साल की आयु पूरी करने जा रहे सी‍नियर बादल को शिरोमणि अकाली दल लंबी विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी कर रहा है। दरअसल, पंजाब विधानसभा चुनाव को लेकर शिअद साख रणनीति तैयार कर रहा है और प्रकाश सिंह बादल को चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी इसी रणनीति का हिस्‍सा है।    

बता दें कि शिरोमणि अकाली दल का पंजाब में बहुजन समाज पार्टी के साथ चुनावी समझौता है। इसके तहत शिरोमणि अकाली दल के हिस्से में 97 सीटें आई हैं। इनमें से 89 सीटों के लिए शिअद ने अपने उम्मीदवारों के नााम घोषित कर दिए हैं, लेकिन उसने सबसे अहम सीट लंबी सीट के लिए अभी उम्मीदवार की घोषणा नहीं की  है। इस सीट पर प्रकाश सिंह बादल चुनाव जीतते रहे हैं। प्रकाश सिंह बादल अब तक दस बार विधायक रह चुके हैं और ज्यादातर बार वह लंबी सीट से ही चुनाव लड़ते रहे हैं। इस बार माना जा रहा था कि सीनियर बादल इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगे। 

दरअसल, शिरोमणि अकाली दल इस बार बिना निशाने चूके ऐसा कोई भी पत्थर फेंकना नहीं चाहता, जिससे उसके चुनावी उम्‍मीदोंं को झटका लगे। यही कारण है वह पूर्व मुख्यमंत्री और देश के सबसे वयोवृद्ध विधायक प्रकाश सिंह बादल को फिर से चुनाव में उतारने की तैयारी कर रहा है। हालांकि पहले कहा जा रहा था कि सुखबीर बादल अपनी जलालाबाद सीट को छोड़कर इस बार लंबी सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। अनुमान लगाया जा रहा था कि प्रकाश सिंह बादल चूंकि अब काफी वृद्ध हो चुके हैं और उनकी सेहत भी नासाज रहती है, इसलिए उनकी जगह अब बादल परिवार अपनी पैतृक सीट लंबी से सुखबीर बादल को खड़ा करेगा। लेकिन पार्टी ने सुखबीर बादल को फिर से जलालाबाद सीट पर खड़ा कर दिया है और लंबी को लेकर फिर से संशय खड़ा हो गया है।

पार्टी के एक वरिष्‍ठ नेता ने बताया कि प्रकाश सिंह बादल को ही पार्टी इस सीट पर खड़ा करेगी। उन्होंने कहा कि इस बारे में गंभीरता से विचार हो रहा है। हम कोई ऐसा उम्मीदवार खड़ा नहीं करना चाहते, जो सीट जीतने में सक्षम न हो,  इसलिए प्रकाश सिंह बादल को फिर से इसी सीट पर लड़वाने पर विचार हो रहा है।

काबिले गौर है कि प्रकाश सिंह बादल इस समय देश के सबसे वयोवृद्ध विधायक हैं और अब एक बार फिर से चुनावी मैदान में उतरे तो सबसे उम्रदराज लड़ने वाले उम्मीदवार होंगे। हालांकि, पार्टी और परिवार में प्रकाश सिंह बादल की सेहत को देखते हुए हरसिमरत कौर बादल व उनकी बेटी के नाम की भी चर्चा चल रही है, लेकिन पार्टी अभी किसी फाइनल नतीजे पर नहीं पहुंची है।

यह भी पढ़ें: पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल का चुनाव में घोषणाओं पर बड़ा बयान, कहा, चुनाव मैनिफेस्टो की हो कानूनी बाध्यता

Edited By: Sunil Kumar Jha