जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : सेक्टर-26 स्थित पुलिस लाइन में कांस्टेबल के सरकारी मकान का ताला तोड़कर चोर 40 तोले सोना और दो लाख रुपये चोरी कर फरार हो गए। वारदात उस वक्त हुई जब कांस्टेबल मनीष दहिया अपने पिता नरेंद्र की बीमारी से मौत के एक महीने बाद दोबारा से एक दिन की पूजा करवाने मूलनिवास हरियाणा के सोनीपत स्थित घर गए थे। कांस्टेबल मनीष के पिता भी यूटी पुलिस में हेड कांस्टेबल के तौर पर पोस्टेड थे। सेक्टर-26 थाना पुलिस को मनीष ने शिकायत दे दी है। कांस्टेबल मनीष दहिया कम्यूनिकेशन विग में तैनात है। उसे पुलिस लाइन में हाउस नंबर-554 अलॉट है। वह माता-पिता के साथ पुलिस लाइन के मकान में रहता था। एक महीने पहले गंभीर बीमारी की वजह से मनीष के पिता की मौत हो गई थी। जिसके बाद मां के साथ पुलिस लाइन का मकान लॉक कर क्रियाकर्म करने सोनीपत गए थे। एक महीने बाद दोबारा एक दिन की पूजा करवाने के बाद वापस आने पर वारदात की जानकारी मिली। जिसके बाद तुरंत संबंधित थाना पुलिस में शिकायत दी। छोटा भाई दिल्ली पुलिस में

कांस्टेबल मनीष दहिया का छोटा भाई भी दिल्ली पुलिस में पोस्टेड है। पिता की मौत के एक महीने बाद पूजा करवाने मां के साथ रविवार दोपहर एक बजे सोनीपत गए थे। वहां से पूजा संपन्न करवाने के बाद सोमवार शाम चार बजे चंडीगढ़ वापस आ गए थे। इस दौरान मकान के मुख्य दरवाजे का लॉक टूटा और अंदर सारा सामान बिखरा पड़ा था। बता दें कि इससे पहले भी चंडीगढ़ की महिला एसआइ के घर और महिला जज के घर में भी चोरी हो चुकी है। कैमरे और भारी सिक्योरिटी पर जमकर खर्चा

चंडीगढ़ पुलिस विभाग की तरफ से सेक्टर-26 पुलिस लाइन की भारी भरकम सुरक्षा व्यवस्था तय की गई है। जिसमें सभी गेटों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के साथ पुलिस कर्मियों की सिक्योरिटी ड्यूटी तय की गई है। सभी गेट पर कोई भी बिना ऊपरी अनुमति या पहचान पत्र के अंदर-बाहर नही कर सकता है। इसके अलावा पुलिस कर्मियों को रूटीन रजिस्टर एंट्री मेंटेंन करने की जिम्मेदारी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!