जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। पुलिस को दी लूट की झूठी शिकायत युवक के लिए महंगी पड़ गई। पुलिस जांच में शिकायत झूठी निकलने पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। दरअसल दो दोस्तों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। ऐसे में एक युवक ने बदले की भावना में दोस्त को फंसाने के लिए उसपर झूठा आरोप लगाते हुए पुलिस को लूट की सूचना दे दी।

मामला शुक्रवार रात का बताया जा रहा है। सेक्टर-17 में एक युवक ने 30 हजार रुपये लूट की पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस की जांच में मामला आपसी विवाद का निकला, जिसके बाद थाना पुलिस ने धनास निवासी चंद्रन व जगदीश पासवान के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें मारपीट करने की धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया।

सेक्टर-17 थाना पुलिस को शुक्रवार रात सूचना मिली कि युवक के साथ 30 हजार रुपये की लूट हुई है। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी राम रत्न शर्मा मौके पर पहुंचे और उन्हें धनास निवासी चंद्रन मिला। उसने बयान में बताया कि वह सब्जी मंडी से घर जा रहा था। उससे धनास निवासी जगदीश पासवान 30 हजार नकदी छीनकर फरार हो गया है। पुलिस शिकायतकर्ता को थाने लेकर आई और जगदीश को भी थाने बुलाया गया। उसने बताया कि चंद्रन उसपर झूठा आरोप लगा रहा है। उनके बीच सेक्टर-26 सब्जी मंडी में झगड़ा हुआ था। उसका बदला लेने के लिए उसने 30 हजार लूट का आरोप लगाया। सेक्टर 17 थाना पुलिस ने मामले की जांच कर आपस मे झगड़ा करने पर उक्त दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।

लूट की योजना बना रहे दो बदमाश गिरफ्तार

इलाके में लूट की वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे दो आरोपितों को मौलीजागरां थाना पुलिस गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों की पहचान मौली के अमन और हितेश के रूप में हुई। पुलिस ने दोनों आरोपितों के पास से 12 बोर की पिस्टल और एक तेज धार चाकू भी बरामद किया है। पुलिस दोनों को आज को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सामने पेश करेगी। पुलिस के अनुसार मौलीजागरां थाना पुलिस को शनिवार शाम को गुप्त सूचना मिली कि मौली के आसपास दो आरोपित लूट की वारदात अंजाम देने की फ़िराक में घूम रहे हैं। इसके बाद थाना प्रभारी रोहित कुमार के आदेश पर पुलिस ने अलग अलग नाके लगा कर चेकिंग शुरू कर दी। इस दौरान मौली कांप्लेक्स में शनि मंदिर के पास नाके के दौरान दोनों आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने दोनों के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

Edited By: Ankesh Thakur