चंडीगढ़, [विकास शर्मा]। Tokyo Olympics 2021: तीन ओलंपिक गोल्ड मेडल विजेता पद्मश्री स्वर्गीय बलबीर सिंह सीनियर, पूर्व ओलंपियन पदमश्री मिल्खा सिंह, बीजिंग ओलंपिक में देश को पहला इंडविजुअल गोल्ड मेडल जीतने वाले पद्मविभुषण खेलरत्न अभिनव बिंद्रा, हॉकी के पूर्व ओलंपियन रुपिंदर पाल और धर्मबीर सिंह जैसे दिग्गज सिटी ब्यूटीफुल से ही हैं। खेल के क्षेत्र में शहर का योगदान अहम रहा है। अब टोक्यो ओलंपिक में भी शहर के तीन शूटर भारतीय शूटिंग टीम का हिस्सा बने हैं। यह पहली बार है जब एक ही खेल से तीन खिलाड़ियों का चयन ओलंपिक जैसे इवेंट में हुआ है।  

शहर की शूटर अंजुम मोदगिल को ओलंपिक टिकट मिला है। टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने वाली अंजुम मोदगिल 10 मीटर राइफल में देश की नंबर वन और वर्ल्ड की नंबर दो खिलाड़ी हैं। अंजुम ने पिछले साल कई बड़े इवेंट जीते। दिल्ली में आयोजित 12वीं सरदार सज्जन सिंह सेठी मेमोरियल में तो अंजुम ने 10 मीटर एयर राइफल में विश्व रिकॉर्ड को तोड़ते हुए नया रिकॉर्ड कायम किया था।

अंजुम मोदगिल का प्रोफाइल

नाम - अंजुम मोदगिल

जन्म - 5 जनवरी, 1994

ऊंचाई - 5.5 फीट

इंवेट -शूटिंग

रैंकिंग - 10 मीटर एयर राइफल में वर्ल्ड नंबर दो खिलाड़ी।

उपलब्धियां

-साल 2018 साउथ कोरिया में आयोजित वर्ल्ड चैंपियनशिप में 10 मीटर एयर राइफल के इंडविजुअल और टीम इवेंट में सिल्वर मेडल जीता।

- साल 2018 ऑस्ट्रेलिया गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में 50 मीटर थ्री पोजिशन में सिल्वर मेडल जीता।

-साल 2017 ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन में आयोजित कॉमनवेल्थ शूटिंग चैंपियनशिप में 10 मीटर एयर राइफल में ब्रांज मेडल और 50 मीटर राइफल प्रोन में ब्रांज मेडल जीता।

अवॉर्ड

साल 2019 में अर्जुन अवॉर्ड।

शानदार रहा अंगदवीर बाजवा का प्रदर्शन

शहर के शूटर अंगद सिंह बाजवा ओलंपिक की स्कीट प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। हाल ही में शूटर अंगदवीर सिंह बाजवा ने कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में शानदार प्रदर्शन करते हुए दो गोल्ड मेडल हासिल किए थे। उन्होंने स्कीट की मिक्सड प्रतिस्पर्धा में शहर की ही शूटर गनीमत सेखों के साथ जोड़ी बनाकर गोल्ड मेडल जीता था। इसके अलावा अंगद वीर सिंह बाजवा, गुरजोत खांगुरा और मैराज अहमद खान ने स्टीक स्पर्धा के साथ टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता था। अंगद वीर सिंह बाजवा ने पिछले साल दोहा में आयोजित 14वीं एशियन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर देश के लिए पहली बार स्कीट स्पर्धा में ओलंपिक कोटा हासिल किया था। भारत को इस तरह पहली स्कीट स्पर्धा में एशियाई चैंपियन मिला था। बता दें कि कुवैत में आयोजित एशियन शॉटगन चैंपियनशिप में अंगद ने वर्ल्ड रिकार्ड बनाकर दुनियाभर का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया था। इस प्रतियोगिता में अंगद ने 60 में से 60 टारगेट हासिल कर वर्ल्ड रिकार्ड बनाया था। अंगद के पिता गुरपाल सिंह बाजवा का कनाडा में होटल का बिजनेस है। अंगद ने सबसे पहले कनाडा मे ही शूटिंग के गुर सीखे। साल 2015 में वह शूटिंग में करियर बनाने के लिए भारत वापस लौट आए थे।

अंगदवीर सिंह बाजवा का प्रोफाइल

नाम - अंगदवीर सिंह बाजवा

जन्म - 24 नवंबर,1995

इवेंट - स्कीट शूटिंग

अंगदवीर सिंह बाजवा की उपलब्धियां

-साल 2019 दोहा में आयोजित मेंस स्कीट प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता। इसी प्रतियोगिता के टीम इवेंट में सिल्वर मेडल जीता।

- साल 2015 कुवैत में आयोजित मेंस जूनियर स्कीट प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता। इसी प्रतियोगिता के टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता।

-साल 2018 कुवैत में आयोजिता मेंस जूनियर स्कीट प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता।

यशवस्विनी ने वर्ल्ड नंबर-1 खिलाड़ी को हराकर जीता था ओलंपिक कोटा

डीएवी कॉलेज -10 की पूर्व छात्रा यशवस्विनी देसवाल ने भी ओलंपिक टिकट हासिल किया है। दस मीटर एयर पिस्टल में वर्ल्ड की नंबर पांच खिलाड़ी यशस्विनी सिंह देसवाल ने दुनिया की नंबर एक निशानेबाज कोस्तेविच को पछाड़कर 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतकर देश के लिए ओलंपिक कोटा हासिल किया था।

यशस्विनी सिंह देसवाल का प्रोफाइल

नाम - यशस्विनी सिंह देसवाल

जन्म - 30 मार्च, 1997

हाइट - 165 सीएम

इवेंट - 10 मीटर एयर पिस्टल

उपलब्धियां

साल 2019 ब्राजील के रियो डी जेनेरियो में आयोजित आइएसएसएफ वर्ल्ड कप में गोल्ड और मिस्कड टीम।

2014 में जूनियर वर्ल्ड कप चैंपियन बनीं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप