जागरण संवाददाता, मोहाली : लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मोहाली पुलिस की ओर से ड्रग तस्करों के खिलाफ दिखाई जा रही सख्ती के तहत फेज-8 थाना पुलिस ने 10 किलो अफीम बरामद कर चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों से उनकी स्कार्पियो भी कब्जे में ली गई है। गिरफ्तार आरोपितों की पहचान सतिदरजीत सिंह निवासी गांव खंट जिला फतेहगढ़ साहिब, गुरमीत सिंह निवासी चुन्नी खुर्द जिला फतेहगढ़ साहिब, किरपाल सिंह निवासी मानखेड़ी, जिला रूपनगर सभी पंजाब और अमरिदर कुमार उर्फ छोटू निवासी गांव मोनू मंडल जिला सीतामढी, बिहार के तौर पर हुई है। सभी आरोपितों को मोहाली कोर्ट से सोमवार को तीन दिन के रिमांड पर लिया गया है। पंजाब में इलेक्शन के दौरान होनी थी इस्तेमाल

एसएसपी भुल्लर ने बताया कि फेज-8 थाना पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि काफी मात्रा में अफीम की तस्करी की जा रही है, जोकि चुनाव के दौरान पंजाब में इस्तेमाल होनी है। पुलिस ने सूचना के आधार पर गांव लंबियां के पास टी-प्वाइंट पर नाकाबंदी कर ली। नाकेबंदी दौरान पुलिस ने स्कार्पियो को रोका, जिसमें उक्त चारों युवक सवार थे। जब पुलिस ने गाड़ी की तलाशी ली, तो पुलिस को गाड़ी के डेश बोर्ड में पड़े लिफाफे से 10 किलो अफीम निकली। चारों आरोपितों को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया। कुराली का व्यक्ति यूपी में चलाता है ढाबा, उसने दी

पूछताछ के दौरान आरोपितों ने माना कि वे यह अफीम लखनऊ से मुजफ्फरपुर (बिहार) को जाते हाईवे पर ढाबे से लेकर आए थे। यह ढाबा गुरदीप सिंह नाम का व्यक्ति चला रहा है, जोकि कुराली रोड पर गांव चनालो का रहने वाला है। गुरदीप सिंह ने यह 10 किलो अफीम की सप्लाई पंजाब में काका सिंह नाम के व्यक्ति को देने के लिए दी थी। 20 हजार प्रति किलो के हिसाब से मिलनी थी पेमेंट

पंजाब में इस अफीम की सप्लाई के लिए उन्हें प्रति किलो 20 हजार रुपये के हिसाब से पेमेंट मिलनी थी। इस हिसाब से उन्हें इस चक्कर में 10 किलो के हिसाब से 2 लाख रुपये की पेमेंट मिलनी थी। इससे पहले भी दो बार पंजाब में अफीम की खेप पहुंचा चुके हैं। पुलिस का दावा है कि आरोपितों से रिमांड के दौरान और खुलासे होने की उम्मीद है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!