नितिन सिगला, बठिडा : जुलाई माह के आखिरी दिन कोरोना ने दो और पॉजिटिव मरीजों की जान ले ली। वहीं शुक्रवार को सिविल अस्पताल बठिंडा के सरकारी ब्लड बैंक में तैनात लैब टेक्नीशियन समेत 56 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसके साथ जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का सातवां शतक लगा गया है यानि कि शुक्रवार को मरीजों का आंकड़ा 728 पर पहुंच गया है। बता दे कि केवल जुलाई माह में सबसे ज्यादा करीब 575 कोरोना पॉजिटिव मरीज आएं है, जबकि बाकी के 150 मरीज पूर्व दो माह में सामने आएं है। जिले में तेजी से अपने पैर पसारा कोरोना ने अब शहरी क्षेत्रों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को जिस मरीज की मौत हुई है, वह बठिडा सिटी के पॉश एरिया वीर कालोनी का रहने वाला था, जोकि पूर्व दस दिनों से बीमार चल रहा था। इसी तरह जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है, उसमें ज्यादा तरह मरीज बठिडा सिटी के शामिल है। ऐसे में तेजी से बढ़ रहे कोरोना मरीजों को लेकर शहरवासियों में दशहत का माहौल है।

हालत गंभीर होने पर किया रेफर, बीच रास्ते में ही तोड़ दम

जिले में कोरोना वायरस के कारण शुक्रवार को एक और व्यक्ति की मौत हो गई। बठिडा के पॉश एरिया वीर कालोनी के रहने वाले 65 साल बुजुर्ग अशोक कुमार पूर्व दस दिनों से काफी बीमार चल रहे थे। शुक्रवार को उनकी हालत काफी गंभीर होने पर स्वजनों ने उपचार के लिए सिविल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में दाखिल करवाया गया। जहां पर उसका कोरोना टेस्ट लेकर ट्रयूनेट मशीन पर उसकी जांच करवाई गई, तो रिपोर्ट पाजिटिव मिली, जिसके बाद अस्पताल के डाक्टरों की तरफ से उसे फरीदकोट मेडिकल कालेज के लिए रेफर कर दिया गया। स्वजनों ने एंबुलेंस 108 के जरिए पॉजिटिव मरीज को फरीदकोट मेडिकल कालेज के लिए लेकर निकले, लेकिन बठिडा-गोनियाना रोड पर स्थित एनएफएल कालोनी के पास पहुंचने पर मरीज ने एंबुलेंस में दम तोड़ दिया। जिसके बाद मृतक के शव को सिविल अस्पताल बठिडा वापस लाया गया और उसे अच्छी तरह से पैक करने के बाद अंतिम संस्कार के लिए सौंपा गया। वहीं सेहत विभाग ने मृतक के साथ एंबुलेंस में जाने वाले उनके परिजनों के अलावा उसके संपर्क में आने वाले हर व्यक्ति को क्वारंटाइन करते हुए उनके सैंपल लेकर भी जांच के लिए भेज दिए है। वहीं जिला प्रशासन ने अंतिम संस्कार के लिए सरकार की तरफ से जारी हिदायतों के अनुसार उसका अंतिम संस्कार करने की व्यवस्था की है। वहीं दूसरी मौत नथाना के रहने वाले एक व्यक्ति की हुई है। जोकि पीछे दिनों से बीमार था और उसका इलाज फरीदकोट मेडिकल कॉलेज में चल रहा था। रिपोर्ट आने से पहले ब्लड़ बैंक में रक्तदान करवा रहा था पॉजिटिव एलटी

कोरोना वायरस ने धीरे-धीरे सिविल अस्पताल के कर्मियों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। बीते दिनों एमबीबीएस की पढ़ाई करने के बाद अस्पताल में ट्रेनिग हासिल कर रहे एक युवक कोरोना की चपेट में आ गया था, वहीं शुक्रवार को सेहत विभाग के ब्लड बैंक में तैनात लैब टेक्नीशियन भी शामिल है, जोकि शुक्रवार सुबह तक ब्लड़ बैंक में तैनात था और लोगों का रक्तदान ले रहा था। जब उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव सेहत विभाग के पास पहुंची, तो उसे सूचना देकर उसे डीडीआरसी सेंटर में आइेसोलेट किया गया। एलटी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सेहत विभाग के साथ-साथ ब्लड़ बैंक में रक्तदान करने के लिए आने वाले रक्तदानियों में दशहत का माहौल है, चूकि यह एलटी हररोज सैंकड़ों की लोगों के संपर्क में आता था। वहीं रक्तदान कर चुके लोग भी डरे हुए और वह सभी अपने आप को होम क्वारंटाइन कर कोरोना सैंपल देने के लिए अस्पताल पहुंचने लगे। वहीं विभाग भी एलटी के संपर्क में आने वाले अस्पताल के अन्य स्टाफ की जानकारी जुटाकर उनके भी सैंपल लेने की प्रकिया शुरू कर चुका है। दूसरी तरफ सेहत विभाग चिता में है क्योंकि ब्लड बैंक में समाज सेवी संस्थाएं जहां लगातार रक्तदान के लिए आ रही हैं, वहीं विभिन्न अस्पतालों के साथ सिविल अस्पताल के डाक्टरों का भी उक्त बैंक से लगातार संपर्क रहता है। गौर हो कि चार दिन पहले सिविल अस्पताल नथाना की एक स्टाफ नर्स भी कोरोना की चपेट में आ चुकी है।

अजीत रोड पर बढ़ने लगे कोरोना मरीज

जिले में ग्रामीण इलाकों के साथ शहरी क्षेत्र में कोरोना ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिए है। इसमें चिताजनक बात यह है कि शुक्रवार को 28 नए कोरोना केस सामने आए हैं। बठिडा शहरी इलाके में अजीत रोड में चार केस तो रामा मंडी में तीन नए केस सामने आए है। फरीदकोट मेडिकल कालेज की लैब की तरफ से भेजी गए की रिपोर्ट में बठिडा शहरी इलाके में अजीत रोड के बाद लाल सिंह नगर में एक, अमरपुरा बस्ती में एक, बस्ती बिहार में एक, फ्रूट मंडी में एक, सिद्धू कालोनी में एक, अंबुजा फैक्ट्री में एक, प्रताप नगर गली 4 डी में एक, बाबा फरीद नगर गली नंबर 4 में दो, थाना थर्मल में एक, मोहल्ला में एक, गुरु नानक नगर में एक, पंचवटी नगर में एक, बस्ती 6 में एक केस कोरोना मिला है। वही जिले में सोहन तरनतारन में एक, रामा में एक, कालोनी रामपुरा में एक केस कोरोना मिला है। वही पिछले कुछ दिनों से लगातार कोरोना मरीज एयरफोर्स स्टेशन में भी मिल रहे हैं। इसमें शुक्रवार को दो मरीजों की पुष्टि हुई है। फिलहाल सेहत विभाग के लिए ग्रामीणों इलाकों के बाद अब शहरी क्षेत्र भी चुनौती बनने लगा है जहां अब लगातार आए दिन नए केस सामने आ रहे हैं। इसमें प्रमुख तौर पर अजीत रोड क्षेत्र शामिल है। यह आम तौर पर व्यवसायिक गतिविधियों खासकर शैक्षिक गतिविधियों का केंद्र है व इसी क्षेत्र में सर्वाधिक हास्टल व है।

देर शाम को 28 और नए मरीज मिले

शुक्रवार शाम बाद विभाग के पास पहुंची रिपोर्ट में 28 और नए मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। इसमें गोनियाना मडी व तलवंडी साबो के सबसे ज्यादा मरीज है। रिपोर्ट के मुताबिक गोनियाना मंडी की गांधी बस्ती में छह मरीज मिले है, तो तलवंडी साबो के चार, आर्मी अस्पताल का एक, गांव गिल कलां का एक, रामा रिफाइनरी के दो, जस्सी पौ वाली का दो, कोटशमीर का एक, प्रताप नगर का एक, गुरुकी नगरी का एक, आनंद गेस्ट का एक, मैहना चौक किला रोड का एक, पीएनबी बैंक बाजार का एक, सराभा नगर बठिडा का एक, जनता नगर गली नंबर 32 का एक, बैंक बाजार गली नंबर चार का एक, गांव सेमा कलां व बालियांवाली का एक-एक मरीज मिला है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!