जागरण संवाददाता, बठिडा: ट्रांसपोर्ट मंत्री अमरिदर सिंह राजा वड़िंग वीरवार शाम बठिडा के बस स्टैंड पर पहुंचे। इस दौरान वह फुल एक्शन मोड में नजर आए। बस स्टैंड पर पहुंचते ही उन्होंने बिना परमिट के चल रहीं न्यू दीप कंपनी की चार और मनदीप कंपनी की एक बस को बंद करवा दिया। इन बसों के परमिट एक्सपायर हो चुके थे। दूसरी तरफ बसों को बंद कर देने के बाद न्यू दीप कंपनी के आपरेटरों ने विरोध भी किया। उन्होंने आरोप लगाया कि टैक्स अदा होने के बावजूद यह कार्रवाई की गई।

दरअसल, राजा वड़िंग पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश चौधरी के साथ होने वाली मीटिग में शामिल होने के लिए बठिडा पहुंचे थे। मीटिग के बाद वह बस स्टैंड पहुंच गए। इस दौरान वह वहां बने रिक्शा स्टैंड पर एक रिक्शा पर ही बैठ गए और मीडिया से बातचीत करने लगे। उन्होंने बताया कि राज्य में कुछ ट्रांसपोर्टरों ने माफिया बनाया हुआ है। न्यू दीप कंपनी के पास पंजाब में कुल 76 परमिट हैं, जबकि उनके पास बसें 113 हैं। दो-चार बसें तो ज्यादा हो सकती हैं, मगर 37 बसों का गलत ढंग से इस्तेमाल किया जाता था। इस समय तो कांग्रेस की सरकार है, फिर भी वह ऐसे कर रहे हैं। जब उनकी खुद की सरकार थी तो पता नहीं क्या कुछ करते थे? इसके अलावा उन्होंने आर्बिट कंपनी की बंद की गई बसों को हाई कोर्ट के आदेश पर छोड़ने पर कहा कि उनके द्वारा बसों का टैक्स अदा कर दिया गया था, जिसके चलते उनको बस चलाने की मंजूरी दी गई, लेकिन न्यू दीप कंपनी के तो सभी परमिट रद किए गए हैं। बस आपरेटर बोले, टैक्स भरने के बावजूद की गई कार्रवाई उधर, बसों को बंद करने पर बस स्टैंड पर न्यू दीप कंपनी के आपरेटरों ने विरोध किया। उन्होंने आरोप लगाया कि कंपनी की ओर से भी बसों के टैक्स भरे हुए हैं, लेकिन इसके बाद भी बसों को नहीं चलने दिया जा रहा। दूसरी तरफ बठिडा डिपो के जीएम रमन शर्मा ने बताया कि जिन बसों को अब बंद किया गया है, उन सभी के परमिट एक्सापयर हो चुके हैं। बसों को बंद करने से पहले आरटीए विभाग से रिकार्ड भी चेक करवाया गया, जिसके आधार पर यह कार्रवाई की गई है।

Edited By: Jagran