जासं, बठिंडा। बठिंडा में बिक रहे नशे के खिलाफ पुलिस की तरफ से पुख्ता कार्रवाई नहीं करने को लेकर विभिन्न स्थानों में लोगों की तरफ से विरोध जताया जा रहा है। इसी तरह बठिंडा जिले के हलके मौड़ मंडी के गांव भाई बख्तौर में सरेआम बिक रहे चिट्टा नशे के खिलाफ लोगों ने अब मुहिम शुरू की है। इसमें गांव में गली मोहल्लों में बोर्ड लगाए हैं, जिसमें लिखा गया है कि यहां चिट्टा नशा यहां सरेआम बिकता है।

इस बाबत गांव के नौजवान लखबीर सिंह ने बताया कि गांव में नशे की सप्लाई सरेआम होती है। यहां 13 से 15 साल तक के नौजवान बच्चे चिट्टे का नशा पी रहे हैं। इस तरह के हालात के बाद गांव के लोगों ने बैठक कर उस बाबत मुहिम चलाने का फैसला लिया है, ताकि सरकार के कानों तक यह बात पहुंच सके कि पंजाब में नशा सरेआम बिक रहा है व नौजवान चोरी, डकैती जैसी वारदात कर रहे हैं।

पुलिस के पास मामले की शिकायत करते हैं, लेकिन इसमें किसी तरह की कार्रवाई नहीं होती है। गांव में दुकानों में करियाना व दवा बेचने की जगह चिट्टा नशा बेच रहे हैं। पंजाब में आम आदी पार्टी ने चुनावों में लोगों से वादा किया था कि नशे को जड़ से समाप्त कर देंगे, लेकिन सरकार इस वादे को निभाने में नाकाम रही है। उन्होंने कहा कि नशा तस्कर सरेआम सप्लाई देते हैं। वहीं इसका विरोध करने वालों को धमकियां दी जाती है।

वर्तमान में जोधपुर, कोटभारा, मौड़ मंडी में चिट्टे का नशा सरेआम मिल रहा है। वहीं दुकानों में ही सिरींज भी मिल जाती है। गांव के लोग धरना प्रदर्शन करने की बात कर रहे हैं, लेकिन वह नए तरीके से इस नशे के खिलाफ मुहिम चला रहे हैं। 

Edited By: Vinay Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट