जासं, बठिडा : जमीन विवाद के चलते एक व्यक्ति ने अपने मां-बाप व बहनों से परेशान होकर बीते दिनों जहर निगलकर खुदकुशी कर ली। थाना कोटफत्ता पुलिस ने मृतक की पत्नी की शिकायत पर उसके मां-बाप, तीन बहनों व जीजा समेत आठ लोगों पर आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने का केस दर्ज किया है। फिलहाल किसी भी आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

थाना कोटफत्ता के एएसआई अजैब सिंह ने बताया कि पुलिस को शिकायत देकर सोनू रानी पत्नी धर्मेद्र सिंह वासी गांव बंगेहर मोहब्बत ने बताया कि बीते 12 अक्टूबर को उसके पति धर्मेद्र सिंह ने घर में जहर निगल लिया था। इसके बाद 15 अक्टूबर को उसके पति की मौत हो गई।

पीड़िता के मुताबिक उसके सास-ससुर ने अपनी पुश्तैनी जमीन, जिसकी कीमत करीब 40 लाख रुपये थी, उसमें उसके पति का हिस्सा देने की बजाए, पूरी जमीन उसकी तीन ननद व उनके पतियों के नाम पर कर दी। इसके कारण उसका पति मानसिक परेशान रहने लगा था। पीड़िता के मुताबिक जब उसकी शादी हुई थी तब उसका पति कोई काम नहीं करता था। उस समय उसके ससुरालियों ने कहा था कि वह घर चलाने के लिए उसे हर माह खर्च देंगे, लेकिन शादी के बाद न खर्च दिया और उनकी जमीन अपनी बेटियों व उनके पति के नाम पर कर दी, जिसके चलते उसके पति ने यह कदम उठाया।

एएसआई अजैब सिंह ने बताया कि मृतक की पत्नी सोनू रानी की शिकायत पर मां-बाप समेत आठ लोगों पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं लाश का पोस्टमार्टम करवाकर सुपुर्द कर दिया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!