संस, बठिडा : अब सरकारी स्कूलों में प्राइमरी कक्षाओं के लिए प्रतिभा मेला लगाया जाएगा। इस मेले के दौरान सभी छोटे बच्चों के मुकाबले करवाए जाएंगे। शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों में प्रतिभा मेले करवाने के आदेश जारी किए हैं। इस मुकाबले का मकसद विद्यार्थियों की प्रतिभा को बढ़ाना है। यह मुकाबले सिर्फ तीन से पांच वर्ष तक के बच्चों में करवाए जाएंगे। मेले के दिन स्कूल में सुंदर लिखाई मुकाबले, पहाड़ों के मुकाबले, अंग्रेजी और पंजाबी में भाषण प्रतियोगिताएं करवाई जाएंगी। स्कूलों में अलग-अलग ग्रुप बनाने के लिए कहा गया है। हर ग्रुप को विद्यार्थी की गिनती और माडल के अनुसार मैटीरियल उपलब्ध करवाया जाएगा। इस गतिविधि के दौरान 'पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब' के टीम मेंबर स्कूलों में दौरा कर वहां पर टीचर्स को परेशानी आने पर मदद करेंगे। मेले को सोशल मीडिया पर लाइव भी किया जाएगा, ताकि अन्य लोगों को भी स्कूल में होने वाली गतिविधियों की जानकारी मिले। इसके अलावा मेला सिर्फ एक हफ्ते लिए ही चलाया जाएगा।

पहली से पांचवीं के विद्यार्थी लेंगे भाग

इस मेले की खासियत यह है कि यह सिर्फ छोटे बच्चों के लिए ही लगाया गया है। इस दौरान सिर्फ पहली से पांचवीं कक्षा तक बच्चे ही भाग ले सकते हैं। यह मेला स्कूलों में 26 से 31 मार्च तक किसी भी दिन करवाने के आदेश दिए गए हैं। इसमें पहली से पांचवीं के सभी विद्यार्थी और अध्यापक हिस्सा लेंगे। इसमें बच्चों को विभिन्न तरह के माडल और विभिन्न तरह की गतिविधियां करवाई जाएंगी। विद्यार्थियों जहां अलग-अलग तरह के माडल बनाने सिखाए जाएंगे। वहीं, विद्यार्थी विभिन्न मुद्दों के चार्ट भी तैयार करेंगे। इनके लिए स्कूलों में पांच हजार जारी किए गए हैं।

विद्यार्थियों की उपलब्धियों को बढ़ाना

कोरोना के बाद काफी समय बाद स्कूलों को खोला गया है। इस कारण छोटे बच्चों पर काफी प्रभाव पड़ा है। इसलिए शिक्षा विभाग द्वारा प्रतिभा मुकाबले करवाने का फैसला लिया है, ताकि बच्चों को प्रतिभा को उजागर तो किया जाएगा। इसके साथ ही विद्यार्थियों को काफी कुछ सीखने को मिलेगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप