संस, बठिडा

पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय के सीनियर फैकल्टी मेंबर और एजुकेशन विभाग के प्रमुख प्रो. एसके बावा ने कोविड -19 के समय में एनसीटीई के लिए शिक्षक-शिक्षा (टीचर एजुकेशन) के लिए ओपन एजुकेशन रिसोर्स (ओईआर) विकसित किए, जो मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित है।

प्रो. एसके बावा, आईक्यूएसी निदेशक, एनसीटीई द्वारा गठित कोर समिति के पांच सदस्यों में से एक है। इस समिति ने शिक्षक-शिक्षा के 29 पाठ्यक्रमों में 200 से अधिक मॉड्यूल को विकसित करने में योगदान दिया है। सीयूपीबी के कुलपति प्रो. आरके कोहली ने इस अवसर पर प्रो. बावा को बधाई दी और इस कार्य में सफलता के लिए शुभकामनाएं दीं। प्रो. एसके बावा ने बताया कि एनसीटीई ने कोविड-19 महामारी के दौरान शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में छात्रों और शिक्षकों की सहायता करने के लिए शिक्षक-शिक्षा के 29 पाठ्यक्रमों में ओपन एजुकेशन रिसोर्स (ओईआर) विकसित किए है। उन्होंने कहा कि चेयरपर्सन प्रो. सरोज शर्मा की अध्यक्षता में गठित समिति ने विभिन्न शिक्षक शिक्षा कार्यक्रमों से संबंधित मुख्य क्षेत्रों की पहचान करके अपनी यात्रा शुरू की। मुख्य पाठ्यक्रमों की पहचान के बाद अलग-अलग ओईआर को विशेषज्ञों की सहायता से और साथ ही विभिन्न शिक्षण संस्थानों की मदद से विकसित और क्यूरेट किया गया। उन्होंने कहा कि पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय ने शिक्षक शिक्षा के चार पाठ्यक्रमों में 80 मॉड्यूल का योगदान दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!