जागरण संवाददाता, ब¨ठडा : मॉल रोड स्थित ग्लोबल अस्पताल में उपचाराधीन मरीज की मौत होने के बाद परिजनों ने गांव के लोगों के साथ मिल अस्पताल के बाहर शव रख प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों का आरोप था कि अस्पताल की लापरवाही से उनके मरीज की मौत हुई है। ऊपर से अस्पताल प्रबंधन तय रकम से ज्यादा पैसे मांग रहा है। दूसरी तरफ अस्पताल प्रबंधकों ने बताया कि मरीज के इलाज की डेढ़ लाख रुपये फीस बकाया है। मगर उसके परिजन अस्पताल में धक्केशाही करके शव उठा ले गए। श्री मुक्तसर साहिब के गांव सक्कावाली निवासी द¨वदर ¨सह ने बताया कि पेशे से ग्रंथी ¨सह उसके पिता बेअंत ¨सह को विगत दिनों दिल का दौरा पड़ा। जिसके चलते 28 अप्रैल वो उनको इलाज के लिए ग्लोबल केअर अस्पताल में ले आए। उन्हें दाखिल करते समय डाक्टर ने बताया था कि 80 हजार रुपये में उनका ऑपरेशन होगा, जिसके बाद वो बिलकुल ठीक हो जाएंगे। इलाज के दौरान उन्होंने अस्पताल में 80 हजार से ज्यादा पैसे जमा करा दिए। मगर रविवार रात अचानक उसके पिता का देहांत हो गया। सोमवार जब वो अपने पिता का शव ले जाने लगे तो अस्पताल प्रबंधकों ने उन्हें रोक कर 1.30 लाख रुपये और जमा कराने के लिए कहा। उनका कहना था कि पैसे जमा कराए बगैर शव ले जाने नहीं दिया जाएगा। उसी बात को लेकर मामला बिगड़ गया। जब उनके साथ अस्पताल द्वारा की जा रही धक्केशाही के बारे में पता चला तो गांव के लोगों ने पंचायत सदस्यों के साथ पहुंच कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिसके बाद अस्पताल ने उन्हें शव ले जाने की इजाजत दे दी। पैसे नहीं दिए, पुलिस में करेंगे शिकायत : पुनीत कुमार

ग्लोबल अस्पताल के प्रबंधक पुनीत कुमार ने बताया कि दिल के मरीज का बाकायदा इलाज किया गया। मगर जब उसकी मौत हो गई तो परिजनों से बकाया बिल 1.5 लाख की मांग की गई। मगर उन्होंने वो देने से इंकार कर दिया और जबरदस्ती शव उठा ले गए। बिल की पेमेंट लेने के लिए वो अब पुलिस को शिकायत देंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!