जागरण संवाददाता, ब¨ठडा : पेट्रोल डीजल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि के विरोध में वामपंथी दलों की ओर से धरना लगाने के बाद शहर में रोष मार्च निकाला गया। इसमें सीपीआई, आरएमपीआई व सीपीआई एमएल लिबरेशन के नेताओं ने भाग लिया। यह मार्च अमरीक ¨सह रोड पर धरना लगाने के बाद गोल डिग्गी से होकर अस्पताल बाजार, धोबी बाजार, सद्भावना चौक, कोर्ट रोड, बस स्टैंड से होते हुए आंबेडकर चौक में पहुंच कर समाप्त हुआ। वहीं मांग की है कि पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस पर लगाए टैक्सों से राहत दिलाई जाए, अपने पांच साल के कार्यालय में 10 करोड़ लोगों को नौकरियां देने के वादे को पूरा किया जाए, एक लाख करोड़ का किसान राहत फंड कायम किया जाए।

धरने के दौरान यूनियन नेताओं ने कहा कि मोदी सरकार ने पूंजीवादियों को फायदा पहुंचना चाहती है, जिसको किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। साथ ही चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगों को पूरा न किया तो संघर्ष किया जाएगा।

इस मौके पर सीपीआइ के राष्ट्रीय कौंसिल के मेंबर जगजीत ¨सह जोगा, जिला उप सचिव बलकरन बराड़, राष्ट्रीय कौंसिल मेंबर सुरजीत सोही, जसबीर कौर सरां,जिला प्रधान काका ¨सह, किसान सभा के जिला प्रधान हरनेक ¨सह अलीके, परमजीत शेखपुरा, आरएमपीआई के केंद्रीय कमेटी मेंबर महीपाल, सहायक सचिव हरबंस ¨सह, जिला प्रधान मिट्ठू ¨सह घुद्दा, जिला वित्त सचिव प्रकाश नंदगढ़, जिला कमेटी मेंबर संपूर्ण ¨सह, सीपीआई एमएल लिबरेशन के जिला सचिव हर¨वदर सेमा, जिला कमेटी मेंबर प्रीतपाल रामपुरा, जसवंत ¨सह पूहली आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran