जासं, बठिडा

समय : करीब एक बजे

स्थान : परसराम नगर चौक

पांच सुरक्षाकर्मियों के साथ एक व्यक्ति ज्वैलरी शॉप पर पहुंचता है और गहनों की जगह पर प्याज खरीदता है। इसके उपरांत वह प्याज लेकर परसराम नगर के ही स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ब्रांच के गेट पर पहुंचता है। सुरक्षाकर्मियों के साथ उक्त व्यक्ति को देखकर बैंक का सुरक्षाकर्मी उन्हें वहीं पर रोक लेता है। इस बीच बैंक अधिकारी भी गेट पर पहुंचते हैं। इस दौरान उक्त व्यक्ति लॉकर की मांग करता है, ताकि वह खरीदे हुए प्याज को उसमें जमा कर सके। उसकी यह बातें सुनकर वहां पर मौजूद सभी लोग हंसने लगते हैं। यह व्यक्ति कोई और नहीं है, बल्कि शहर में अपने अनोखे ढंग से किए जाने प्रदर्शनों के लिए जाने जाते शिअद नेता व पूर्व पार्षद विजय कुमार शर्मा हैं। जोकि आसमान को छू रही प्याज की कीमत के विरोध में केंद्र एवं राज्य सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन कर रहे थे। प्याज की चटनी भी गरीबों के लिए बनी सपना

पूर्व पार्षद विजय कुमार शर्मा ने कहा कि इस महंगाई के जमाने में जमाखोरों के कारण प्याज की कीमत इतनी बढ़ रही है कि यह गरीब लोगों की पहुंच से दूर हो गया है। गरीब आदमी पहले प्याज की चटनी के साथ रोटी खा लेता था, लेकिन अब प्याज की चटनी भी उनके लिए एक सपना बन गई है। यह सरकारों की नाकामी का परिणाम है। अगर सरकारें प्याज को स्टोर करके इसकी कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करती तो यह स्थिति कभी न पैदा होती। प्याज की मौजूदा कीमत के लिए सरकारें जिम्मेदार हैं। सरकारों की नाकामियों को लेकर ही लोगों को सड़कों पर उतरना पड़ रहा है। आम लोगों के लिए प्याज की यह कीमत उनके वश से बाहर है। इसकी कीमत फ्रूट और पेट्रोल से भी कहीं अधिक हो गई है। अगर यही स्थिति बनी रही तो प्याज भी गहनों की तरह हो जाएगा और लोगों को इसकी सुरक्षा के लिए बॉडीगार्ड रखने पड़ेंगे। पूर्व पार्षद ने प्याज की कालाबाजारी करने वालों पर नकेल कसने की मांग की। साथ ही कीमत में शीघ्र ही सुधार न होने पर कड़े संघर्ष की चेतावनी भी दी। इस दौरान उसके साथ बलदेव कुमार, अंजनी कुमार, सुरेश कुमार, सुरिदर कुमार, विक्रम सिंह, रविदर कुमार रिपी, विक्रम सिंह बब्बू, दिनेश कुमार, कुलवंत राय, देवराज आदि भी मौजूद थे। प्रदर्शनकारियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!