संस, ब¨ठडा : सड़कों पर भीख मांगने वाले बच्चों को भी अब स्कूलों में पढ़कर एक अच्छे इंसान बनने का मौका मिलेगा। जिला बाल सुरक्षा अधिकारी ब¨ठडा की ओर से जारी किए गए आदेशों में कहा गया कि अगर कोई भी बच्चा सड़कों पर भीख मांगते हुए देखा जाता है तो इसकी सूचना तुरंत उनके दफ्तर को दी जाए ताकि इन बच्चों को भी आम बच्चों की तरह पढ़ने के मौके मुहैया कराए जा सकें। भीख मांगने वाले बच्चों को स्कूलों तक लाने के लिए विशेष मुहिम शुरु की गई है।

टास्क फोर्स का किया गया गठन

पंजाब राज्य में बाल भीख के खात्मे के लिए पंजाब राज्य बाल अधिकारी रक्षा कमिशन पंजाब द्धारा एक्शन प्लान किया गया था जिसके तहत टास्क फोर्स तैयार की गई जो कि बच्चों की श्नाखत करेगी जो बच्चें सड़को पर भीख मांगते है वह स्कूल में पढ़ते है या फिर ड्राप आऊट है। ऐसे बच्चों को स्कूल में दाखिल करवा कर उन्हें अच्छी शिक्षा दी जाएगी। टास्क फोर्स में जिला बाल अधिकारी, शिक्षा, चाइल्ड लाइन, पुलिस डिपार्मेंट के अधिकारी शामिल है। इन सभी विभागों के अधिकारी टास्क फोर्स में शामिल है। जो कि बच्चों की शनाख्त स्कूल में दाखिल करवाते है।

भीख मांगने वाले 21 बच्चों को स्कूलों में दाखिल करवाया जा चुका है

सड़को पर भिक्षा मांगने वाले बच्चों में अभी तक 21 बच्चों को स्कूल में दाखिल करवाया जा चुका है। जिसमें 16 बच्चों का आधार बना दिया गया है व एक बच्चें का बैंक अकाउंट भी बना दिया गया है। बाल शिक्षा अधिकारियों का कहना है कि उनकी कोशिश है कि जो बच्चे भिक्षा में मांगते है उनको स्कूल में दाखिल करवा कर अच्छा इंसान बनाए जा सके।

--------

हमारी टीम भिक्षा मांगने वाले बच्चों को स्कूल में दाखिल करवा रही है हम भी चाहते है कि ऐसे बच्चों को भी शिक्षा मिले ताकि उनका भी भविष्य बन सके।

म¨नदर कौर, जिला शिक्षा अधिकारी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!