संस, रामा मंडी : अकाली-भाजपा सरकार के समय लाखों रुपये खर्च कर बनाए गए बस स्टैंड पर बसें न आने के कारण यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने पहले भी कई बार इस बारे में केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और उस समय तलवंडी साबो से विधायक रहे जीतमहिदर सिद्धू को इस बारे अवगत करवाया। लेकिन सरकार बदलने के बाद भी लोगों को आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला। लोगों को उम्मीद थी कि कांग्रेस सरकार बनने के बाद रामा मंडी के दिन बदलेंगे। लेकिन ढाई वर्ष बीतने के बाद भी बस स्टैंड को पूरी तरह चालू नहीं किया गया। बस चालक अपनी मर्जी से बसों को सरकारी कन्या हाई स्कूल, कमालू रोड, और पुलिस स्टेशन वाली गली जहा पुराना बस स्टैंड हैं, वहीं खड़ी कर देते हैं। वहीं इन बस चालकों ने अपनी मनमर्जी से स्थाई बस स्टैंड बना रखे हैं। परंतु प्रशासन इन पर कोई कार्रवाई नही कर रहा । इसके अलावा कई रूट ऐसे हैं जो लंबे समय से बंद पड़े हैं। इस कारण मलकाना, गाटवाली ज्ञाना आदि गांवों का संपर्क रामा मंडी से पूरी तरह कट चुका है। उन गांवों के लोगों का रुख तलवंडी साबो तथा साथ लगते राज्य हरियाणा की कांलावाली की मंडी की तरफ हो गया। इस  वजह से रामा मंडी के व्यापार पर भी बुरा असर पड़ रहा है। भाकियू लक्खोवाल के शहरी प्रधान सुनील कुमार ने कहा कि पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल ने लाखों रुपये बस स्टैंड पर खर्च करने के बावजूद लोगों को नया बस स्टैंड बनने से कोई फायदा नही मिला।  उन्होंने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह से मांग करते हुए कहा कि रामा मंडी के बस स्टैंड की सुध ली जाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!