जागरण संवाददाता, बठिडा : बठिडा-मानसा रोड स्थित गांव जस्सी पौ वाली में बने एक प्राइवेट बाड़े में खड़े तेल कैंटर में सोमवार दोपहर करीब पौने दो बजे अचानक आग लग गई। 12 हजार लीटर पेट्रोल व डीजल से भरे इस कैंटर का अगला हिस्सा आग की चपेट में आकर पूरी तरह जल गया, जबकि सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची फायर बिग्रेड की तीन गाड़ियों ने बड़ी मश्कत के बाद आग पर काबू पाया। अगर समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता, तो कैंटर के पिछले हिस्से में स्टोर 12 हजार लीटर पेट्रोल व डीजल से एक बड़ा व भयंकर हादसा हो सकता था, चूकि घटनास्थल से 200 मीटर दूरी भारत पेट्रोलियम व एचपी तेल डिपो के अलावा एक पेट्रोल पंप स्थित था। जोकि एक बड़ी तबाही फैल सकती थी।

थाना कैंट पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया और मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक कैंटर से तेल चोरी करने के लिए इस प्राइवेट बाड़े में खड़ा किया गया था। आग कैसे लगी है, यह अभी पता नहीं चल सका है। पुलिस का कहना है कि ट्रक ड्राइवर व उसका सहायक मौके से फरार हो गए हैं, जिनकी तलाश की जा रही है, वहीं बाड़े के मालिक के बारे में पता किया जा रहा है। कैंट पुलिस का कहना है कि मामला काफी गंभीर है, इसलिए मामले की पूरी पड़ताल करने के बाद इसके लिए जिम्मेवार लोगों पर बनती कार्रवाई की जाएगी।

पौने दो बजे लगी अचानक तेल कैंटर में आग

गांव जस्सी पौ वाली में स्थित एक प्राइवेट बाड़े में खड़े एसआर तेल कंपनी के कैंटर में सोमवार दोपहर करीब पौने दो बजे अचानक आग लग गई। जिसकी सूचना तुरंत फायर बिग्रेड को दी गई। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची दमकल विभाग के अलावा तेल डिपो की एक फायर बिग्रेड की गाड़ियों मौके पर पहुंची और पर आग पर काबू पाना शुरू कर दिया। आग कैंटर के अगले हिस्से में लगी है,जिसके चलते उसका अगला हिस्सा पूरी तरह जलकर खाक हो गया, जबकि कैंटर का ड्राइवर और हेल्पर मौके से फरार हो गया।

डेढ़ बजे एचपी तेल डिपो से तेल भरकर बाहर निकाला था कैंटर

थाना कैंट के एसएचओ गुरलाल सिंह ने बताया कि एसआर तेल कंपनी यह कैंटर अमृतसर के रंधावा फिलिग का था,जोकि सोमवार को बठिडा के एचपी तेल डिपो से तेल भरवाने के लिए बठिडा आया था। मानसा रोड स्थित गांव जस्सी पौ वाली के एचपी तेल डिपो से तेल व डीजल भरवाकर करीब डेढ़ बजे यह डिपो से बाहर निकाला था। कैंटर के ड्राइवर का नाम लखविदर सिंह व हेल्पर अमित कुमार है, जोकि फरार है। उन्होंने बताया कि कैंटर अमृतसर जाने की बजाएं इस प्राइवेट बाड़े में कैंसे पहुंचा, इसकी जांच की जा रही है, वहीं बाड़े का असली मालिक कौन है, इसकी पड़ताल पुलिस द्वारा की जा रही है।

पेट्रोल चोरी करने की जताई आशंका

पुलिस के मुताबिक कैंटर में आग कैसे और किन कारणों के चलते लगी है, इसका अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस व दमकल विभाग की टीम इसकी गंभीरता से पड़ताल कर रही है। पुलिस का माना है कि कैंटर से पेट्रोल व डीजल चोरी करने के लिए इस जहां पर लाया गया था, चूकि बाड़े में तेल चोरी करने का सामान भी मिला है। पुलिस का कहना है कि हादसा तेल चोरी करने से पहले हुआ या बाद में यह भी जांच पूरी होने के बाद ही स्पष्ट होगा। यह स्पष्ट है कि कैंटर डीजल व पेट्रोल चोरी करने के लिए जहां पर लाया गया था। बताते चले कि कैंटर के एक हिस्से में छह हजार पेट्रोल, तो दूसरे में हिस्से में छह हजार डीजल था। काूननी कार्रवाई होगी- एसएचओ

थाना कैंट के एसएचओ गुरलाल सिंह ने कहा कि फरार चल रहे कैंटर ड्राइवर लखविदर सिंह व हेल्पर अमित कुमार की तलाश की जा रही है, वहीं बाड़े के सही मालिक का पता किया जा रहा है। जिसके बाद ही ड्राइवर व बाड़े मालिक के खिलाफ बनती कानूनी कार्रवाई लाजिमी की जाएगी। हो सके उनके खिलाफ केस भी दर्ज किया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!