संवाद सूत्र, रामां मंडी :

मेडिकल स्टोरों पर इन दिनों नशीली दवा बेचने का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। अवैध तरीके से बेची जा रही इन दवाओं पर रोक लगाने और स्टोर संचालकों पर कार्रवाई करने में स्वास्थ्य महकमा भी फेल साबित हो रहा है। क्षेत्र में छोटे-बड़े मेडिकल स्टोरों पर बिना कोई रिकार्ड भारी मात्रा में नशीली दवाओं का स्टॉक रखा गया है। इसके साथ ही झोलाछाप डाक्टर भी ऐसी ही दवाओं को खुलेआम बांट रहे हैं। मेडिकल स्टोर और क्लीनिकों पर बिक रही इन दवाओं का अधिक सेवन अब नशे के आदी हो चुके लोग कर रहे हैं। शराब व अन्य नशे के पदार्थों की अपेक्षा इसे खरीदना नशेड़ियों को सस्ता पड़ रहा है। नशीली दवाओं की अच्छी बिक्री से स्टोर संचालकों और झोलाछाप डॉक्टरों की भी चांदी है। सबकुछ जानते हुए भी स्वास्थ्य महकमा चुप्पी साधे बैठा है। इस मामले बारे अपना नाम न छापने की शर्त पर पत्रकारों को जानकारी देते हुए एक मैडिकल संचालक ने बताया कि शहर में अधिकतर मेडिकल स्टोर पर धड़ल्ले से नशीली दवाओं की बिक्री हो रही है और यह गोरखधंधा संबंधित विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से फल फूल रहा है क्योंकि नशे के कारोबारियों द्वारा हर महीने संबंधित विभाग के अधिकारियों को चढ़ावा चढ़ाया जाता है जिसके चलते कभी किसी अधिकारी ने मेडिकल स्टोर की जांच तक नहीं की । इस मामले बारे जब ड्रग इंस्पेक्टर गुनदीप से बात की तो उन्होंने कहा कि उन्हें अभी तक इस तरह की कोई शिकायत नहीं मिली । उन्होंने कहा कि जल्द ही वह टीम सहित मेडिकल स्टोरों पर छापेमारी करेंगे। अगर किसी मेडिकल स्टोर पर नशे से संबंधित दवाईयां मिलती हैं तो उसपर बनती कारवाई की जाएगी ।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप