जासं,बठिडा: कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए डाक्टरों और नर्सिंग स्टाफ को विशेष ट्रेनिग दी जा रही है। नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) द्वारा जिले से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर यह ट्रेनिग प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं, जो एम्स की फैकल्टी द्वारा आयोजित किए जा रहे हैं। अस्पताल ही नहीं मेडिकल कालेज में कार्यरत स्टाफ को भी दी ट्रेनिग दी जा रही है। ट्रेनिग लेने वालों को सर्टिफिकेट भी दिए जाएंगे।

इसके तहत एक स्पेशल सब ग्रुप तैयार किया गया है, जिसका मुख्य मकसद उन विषयों की पहचान कर उन पर ट्रेनिग देना है जो सबसे अहम हैं। कोविड-19 की तीसरी लहर के प्रभाव को कम करने में सबसे ज्यादा योगदान दे सकते हैं। इसमें नवजन्मे बच्चों के कोविड सैंपल कैसे लेने, डिलीवरी रूम केयर, कोविड पाजिटिव माताओं के पास ले जाने, बच्चों में कोविड पाए जाने पर उनका इलाज आदि की ट्रेनिंग दी जा रही है। इसके साथ ही पीडियाट्रिक रेस्पीरेट्री थैरेपी, आक्सीजन थैरेपी के विभिन्न तरीकों, मकेनिकल वेंटिलेशन, आइवी थैरेपी, बच्चों को कौन-सी दवाई कितनी मात्रा में देनी है की जानकारी दी जा रही है। साथ ही गर्भवतियों की देखभाल के बारे में भी बताया जा रहा है। जिले में मिला सिर्फ एक कोरोना मरीज डीसी बी.श्रीनिवासन ने बताया कि शनिवार को जिले में कोरोना का सिर्फ एक मरीज मिला, जबकि मौत किसी की नहीं हुई। इस समय जिले में कुल 26 केस एक्टिव हैं, जिनमें 24 मरीज घरेलू एकांतवास में हैं। वहीं जिले में अब तक 578132 व्यक्ति कोरोना वैक्सीन लगवा चुके हैं। कैंप में 404 लोगों को लगाई वैक्सीन सहारा क्लब की तरफ से अग्रवाल यूथ क्लब के सहयोग से कम्युनिटी सेंटर में कोरोना वैक्सीन कैंप लगाया गया, जिसका उद्घाटन नगर पंचायत के प्रधान गुरतिदर सिंह रिपी मान ने किया। सहारा क्लब के प्रधान सुखदेव सिंह ने बताया कि सीनियर मेडिकल अफसर डा. दर्शन कौर के सहयोग से 404 लोगों का टीकाकरण किया गया। यहां कर्नल भुपिदर सिंह, रणजीत सिंह बराड़, नवनीत कुमार, अलेश्वर गर्ग, लकेश गुप्ता, नत्था सिंह, धन्ना सिंह, गुरदेव सिंह, बरिदर महेश्वरी, कुलवंत सिंह, कुलविदर सिंह, केहर सिंह आदि हाजिर थे।

Edited By: Jagran