जागरण संवाददाता, बठिडा : कुल हिद किसान संघर्ष तालमेल कमेटी के पंजाब चैप्टर के कन्वीनर डॉ. दर्शन पाल ने बताया कि नेशनल कमेटी की और से घोषित 9 अगस्त के राष्ट्रव्यापी प्रोग्राम जिसका मुख्य नारा देसी विदेशी कारपोरेट घरानों खेती छोड़ो होगा। 9 अगस्त 1942 को अंग्रेजों भारत छोड़ो के नारे के नीचे आंदोलन शुरू किया गया था। इसलिए इसी दिन के तहत पूरे भारत में 9 मांगों को लेकर उक्त नारे के तहत यह आंदोलन शुरू किया जा रहा है। नौ मांगों संबंधी एक चिट्ठी के रूप में मांगपत्र संघर्ष कमेटी में शामिल ढाई सौ से अधिक किसान जत्थेबंदियों की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजा जा रहा है। इसके अलावा इस दिन पूरे भारत में धरने मुजाहिरे, रोष मार्च, रैलियां आदि विभिन्न प्रोग्राम किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि पंजाब चैप्टर में शामिल 10 किसान जत्थेबंदियां 10 अगस्त को पूरे पंजाब में सभी पार्टियों के सांसदों व विधायकों, राज्य सरकारों के मंत्रियों के दफ्तरों या घरों तक रोष मार्च निकाला जाएगा।

बैठक में जम्हूरी किसान सभा के प्रदेश अध्यक्ष कुलवंत सिंह संधू , प्रेस सचिव परगट सिंह जामराय, भारतीय किसान यूनियन एकता डकौंदा के सूबा प्रधान बूटा सिंह बुर्ज गिल, सीनियर उपप्रधान मनजीत सिंह, क्रांतिकारी किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष डॉ दर्शन पाल, महासचिव गुरमीत सिंह महिमा, पंजाब किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष रुलदू सिंह मानसा, महासचिव गुरनाम सिंह, किसान संघर्ष कमेटी पंजाब के प्रधान इंद्रजीत सिंह, महासचिव हरजीत सिंह रवि, कुल हिद किसान सभा के प्रधान बलकार सिंह बराड़, सीनियर उपप्रधान सूरत सिंह तथा किसान आंदोलन के प्रदेश अध्यक्ष गुरबख्श सिंह बरनाला आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!