सुभाष चंद्र, ब¨ठडा

नगर निगम हाउस की 12 मार्च को होने वाली बैठक से पहले मेयर बलवंत राय नाथ ने करीब साढ़े दस करोड़ रुपये के विकास कार्यो के एजेंडे निकालने की आखिरकार नगर निगम के कमिश्नर संयम अग्रवाल पर गाज गिर गई है। उनकी डिमोशन कर यहां से लुधियाना में नगर निगम का अडिशनल कमिश्नर बना तबादला कर दिया गया है। हालांकि संयम अग्रवाल इस बात से साफ इंकार करते हैं, लेकिन सियासी सूत्रों का यही कहना है। कमिश्नर संयम के साथ ही उनकी ब¨ठडा में ही एडीसी (जनरल व डेवलपमेंट) के पद पर तैनात पत्नी शेना अग्रवाल (आइएएस) का भी लुधियाना तबादला कर दिया गया है। अब लुधियाना में उनके पास केवल एडीसी (डी) का चार्ज रहेगा। गौरतलब है कि आइएएस संयम अग्रवाल को अगस्त माह में ही ब¨ठडा नगर निगम का कमिश्नर नियुक्त किया गया था, जबकि उनकी पत्नी शेना अग्रवाल पिछले करीब दो साल से ही यहां पर एडीसी के पद पर तैनात थीं।

विकास कार्यों के एजेंडे निकालने की चर्चा

नगर निगम हाउस की साढ़े चार माह के बाद 12 मार्च को बैठक होने जा रही है। पहले यह बैठक 8 मार्च को होनी थी। जिसे बताया जाता है कि केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के तलवंडी साबो में कार्यक्रम के चलते 12 मार्च पर स्थगित कर दिया है। हाउस की बैठक के लिए पहले 14 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का ड्राफ्ट एजेंडा तैयार किया गया था। जिसे मेयर की बजाए कमिश्नर ने एफएंडसीसी सदस्यों से बैठक कर उन्हें सौंपा था। साथ ही यह भी कहा था कि वे इसे पढ़ लें। वे इसमें कोई प्रस्ताव निकलवा भी सकते हैं और कोई नया प्रस्ताव डलवा भी सकते हैं। हाउस की बैठक की घोषणा से पहले साढ़े दस करोड़ रुपये के विभिन्न विकास कार्यो के प्रस्ताव निकालकर एजेंडा जारी कर दिया गया।

विकास प्रस्ताव निकालने पर मनप्रीत की किरकिरी

बताया जाता है कि एजेंडा जारी करने से पहले शिअद के वरिष्ठ नेताओं की ओर से अकाली पार्षदों के साथ गुप्त बैठक की गई। जिसमें राज्य की कांग्रेस सरकार के खिलाफ नई रणनीति के तहत विकास कार्यों के एजेंडे निकालने का शिअद के वरिष्ठ नेताओं ने आदेश जारी किया। मालूम हो कि निगम हाउस पर अकाली-भाजपा गठबंधन काबिज है। इस बैठक में न तो भाजपा पार्षदों को शामिल किया गया और न ही भाजपा के वरिष्ठ डिप्टी मेयर तरसेम चंद गोयल व डिप्टी मेयर गु¨रदरपाल कौर मांगट से कोई सलाह मशविरा किया गया। मेयर की ओर से विकास कार्यों के प्रस्ताव निकालने से राज्य के वित्तमंत्री एवं क्षेत्र के विधायक मनप्रीत ¨सह बादल की महानगर में खूब किरकिरी हुई है। अन्य कांग्रेसी नेताओं व पार्षदों में भी गहरा रोष है। कहा जा रहा है कि नगर निगम के कमिश्नर ने विकास कार्यों के प्रस्तावों को एजेंडे से निकालने से रोकने पर मेयर पर दबाव नहीं बनाया। अगर कमिश्नर अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते तो मेयर को प्रस्ताव निकालने से रोक सकते थे।

संयम अग्रवाल बोले ऐसी बात नहीं

संयम अग्रवाल ने हो रही इन चर्चाओं के संबंध में कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। राज्य सरकार की ओर से अधिकारियों को इधर-उधर किया जाना आम बात है। यह सब चलता रहता है। उन्होंने अपने स्तर पर अच्छा काम करने का प्रयास किया है।

एसडीएम साक्षी को बनाया एडीसी

उधर, ब¨ठडा में तैनात एसडीएम साक्षी साहनी (आइएएस) को यहीं पर शेना अग्रवाल के स्थान पर एडीसी (डी) नियुक्त कर दिया गया है। जबकि असिस्टेंट कमिश्नर बल¨वदर ¨सह को एसडीएम का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!