जासं, बठिडा : महानगर में चार स्थानों पर सोलर प्लांट लगाने तथा तमाम परंपरागत स्ट्रीट लाइट्स को एलईडी लाइट्स में तब्दील करने के प्रोजेक्ट अंतत: अब शुरू होने जा रहे हैं। बीते दो सालों से अधिक समय से इन दोनों प्रोजेक्ट पर चल रहा काम आखिरकार तमाम मंजूरियों के बाद शुरू करने के अंतिम चरण में पहुंच गया है। राज्य के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल आजादी दिवस पर इन दोनों प्रोजेक्टों के कार्यों का शुभारंभ कराने जा रहे हैं। जिसके लिए नगर निगम से लेकर जिला प्रशासन तक तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। इन दोनों प्रोजेक्ट की शुरुआत को अक्टूबर माह में होने वाले नगर निगम के चुनाव की तैयारियों के रूप में भी देखा जा रहा है। लेकिन इन दोनों प्रोजेक्ट के लगने के बाद जहां नगर निगम के बिजली बिल में भारी बचत होगी, वहीं एलईडी लाइट्स की रोशनी से शहर भी जगमगाएगा। इन दोनों प्रोजेक्ट को अंजाम तक पहुंचाने के लिए नगर निगम के अधिकारियों को पिछले दो सालों के दौरान कड़ी मशक्कत भी करनी पड़ी है। चार स्थानों पर लगने हैं सोलर प्लांट

नगर निगम की ओर से चार स्थानों पर सोलर प्लांट लगाए जाने हैं। जिसमें 60 किलोवाट का नगर निगम की बिल्डिंग पर, 390 किलोवाट का ग्रोथ सेंटर में, 1000 किलोवाट का जॉगर पार्क में तथा 300 किलोवाट का सोलर प्लांट कचरा प्लांट के नजदीक सिंह सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट पर लगाया जाना है। हालांकि पहले निगम बिल्िडग पर 120 किलोवाट तथा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट पर 700 किलोवाट का प्रोजेक्ट लगाने की योजना थी। लेकिन अब 60 व 300 किलोवाट के लगाने की योजना है। सबसे पहला प्रोजेक्ट नगर निगम की बिल्डिंग पर लगाया जा रहा है। जिसके सामान भी पहुंच चुका है। इसके साथ ही ग्रोथ सेंटर में भी जमीन का लेवल करने की तैयारियां शुरू की जा चुकी हैं। 9.85 करोड़ रूपये की लागत के यह सोलर प्लांट पंजाब एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी के अधीन देहरादून की मित्तल मशीनज लिमिटेड की ओर से लगाए जा रहे हैं। बिजली यूनिट के मौजूदा रेट के अनुसार सोलर प्लांट से निगम को 25 सालों में करीब 40 करोड़ रूपये की बचत होगी। 23254 प्वाइंट्स होंगे एलईडी में तब्दील नगर निगम के स्ट्रीट लाइट्स के इस समय शहर में 23254 प्लाइंट हैं। जहां पर मर्करी व सोडियम लाइट लगी हुई हैं। लेकिन यह सभी लाइट अब एलईडी में तब्दील होंगी। जिसका पैनासोनिक लाइफ सॉल्यूशंज को वर्क आर्डर जारी किया जा चुका है। नगर निगम की ओर से इस पर 16.60 करोड़ रूपये खर्च किए जा रहे हैं। आठ साल तक पैनासॉनिक कंपनी ही इसके ऑपरेशन और मेंटीनेंस का काम देखेगी। निगम इस समय स्ट्रीट लाइट्स पर मासिक एक करोड़ रूपये बिजली बिल का भुगतान कर रहा है। लेकिन एलईडी लाइट्स लगने के बाद यह बिल 50 फीसद कम हो जाएगा। एलईडी लाइट्स लगाने की शुरूआत माल रोड से की जा रही है। नगर निगम के सुपरिंटेंडेंट इंजीनियर हरपाल सिंह भुल्लर ने बताया कि इन दोनों प्रोजेक्ट का काम 15 अगस्त को वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल शुरू कराने जा रहे हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!